0Shares

बिहार वासियों को एक और संग्रहालय की सौगात मिलने जा रही है। राज्य के पटना में पहला शिल्प कला म्यूजियम बन रहा है। इस संग्रहालय के निर्माण में लगभग 30 करोड़ की लागत आई है। पटना स्थित उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान परिसर में बिहार का पहला शिल्प कला म्यूजियम बनाया जा रहा है।

इस म्यूजियम में प्रशासनिक ब्लॉक फैसिलिटी सेंटर और शिल्प कला के लिए अलग-अलग भवन होंगे। मिली जानकारी के अनुसार, शिल्प संस्थान परिसर में बने फैसिलिटी सेंटर को जीविका से जोड़ नए सिरे से एक बार फिर से आरंभ किया जाएगा।

बिहार

बिहार में बनने वाला पहला शिल्पकला म्यूजियम उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान में

आपको बता दें कि बिहार में बनने वाला पहला शिल्पकला म्यूजियम उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान में बनने जा रहा है। इसके लिए पुराने भवन की संरचना को बिना नुकसान पहुंचाए आधुनिक म्यूजियम बनाया जा रहा है।

संग्रहालय परिसर में बिहार की पुरानी लोक कलाएं, शिल्प कला को रखा जाएगा। साथ ही साथ इन कलाओं को प्रदर्शनी के लिए डिस्पले सेंटर भी बनाया जाएगा। राज्य का यह पहला म्यूजियम होगा, जहां पर लोक कलाओं को प्रदर्शित करने के लिए डिस्पले सेंटर बनेगा।

पहला शिल्प कला म्यूजियम बनाने का उद्देश्य लोगों को शिल्प कला से जोड़ना है। उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान परिसर में पटना घाट का निर्माण भी किया गया था। एक बार फिर से पटना हाट को चालू किया जाएगा। दिल्ली की तर्ज पर पटना वासियों के लिए हाट की शुरुआत की गई थी। इसके अलावा उपेंद्र महारथी संस्थान में बने फव्वारे को एक बार फिर से चालू किया जाएगा। यह इस संस्थान की खूबसूरती को और बढ़ाएगा और लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.