पटना: बिहार में फिलहाल, दक्षिण केंद्रीय विश्वविद्यालय, महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय और पूसा एग्रीकल्चर केंद्रीय विश्वविद्यालय के बाद एक और सेंट्रल विश्वविद्यालय का गठन होगा. इसकी घोषणा शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने बिहार विधानसभा के बजट सत्र में बहस के दौरान दी है.

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने विधानसभा में कहा कि भागलपुर में एक सेंट्रल यूनिवर्सिटी की स्थापना प्रक्रियाधीन हैं. उन्होंने कहा कि गया, मोतिहारी और पूसा के बाद चौथा केद्रीय विश्वविद्यालय भागलपुर में खुलेगा. बिहार के परंपरागत विश्वविद्यालयों में सृजित पद के विरुद्ध विभिन्न विषयों में रिक्त पदों पर नियुक्ति के लिए बिहार राज्य विश्वविद्यालय सेवा आयोग का गठन किया गया है.

सहायक प्राध्यापकों की नियुक्ति शुरू

आयोग द्वारा रिक्त 4638 सहायक प्राध्यापकों के पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया प्रारंभ की गयी है. यह सभी कार्य राज्य में शैक्षणिक स्तर में सुधार के लिया किया जा रहा है. शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने यह भी बताया कि सरकार पहले चरण में राज्य के सभी अनुमंडलों में डिग्री कॉलेज खोलने की पहल कर रही है.

अनुमंडल में खुल सकते हैं नये डिग्री कॉलेज

बिहार विधानसभा में सदन के सदस्यों के प्रश्न का जवाब देते हुए कहा कि अनुमंडलों में डिग्री कॉलेज खुलने के बाद अगर विद्यार्थियों की संख्या अधिक होती है तो नये डिग्री कॉलेज खोलने पर विचार किया जा सकता है. सूर्यकांत पासवान के तारांकित प्रश्न के जवाब में बताया कि बेगूसराय जिला के बखरी अनुमंडल में डिग्री कॉलेज की भूमि हस्तांतरण का काम चल रहा है. उसके बाद भवन निर्माण का कार्य आरंभ होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here