Bharat Gaurav Scheme : देश में पहली प्राईवेट ट्रेन का परिचालन गत मंगलवार 14 जून को कोयंबटूर से शुरू हुआ है। इस ट्रेन की खास बात यह है कि इसकी टिकट की कीमत भारतीय रेल की टिकटों की कीमत के बराबर ही है।

भारत गौरव स्कीम के तहत शुरू की गई इस ट्रेन को कोयंबटूर से हरी झंडी दिखा कर रवाना किया गया। यह ट्रेन गुरुवार को शिरडी (Shirdi) के साईं नगर पहुंची। मिली जानकारी के मुताबिक 20 कोच की इस स्पेशल ट्रेन में 1500 पैसेंजर सफर कर सकते हैं. इस ट्रेन की सबसे खास बात है कि इसका किराया भी भारतीय रेलवे की ट्रेन टिकटों की कीमत के बराबर ही है।

Bharat Gaurav Scheme : 1100 पैसेंजर्स कोयंबटूर से शाम 6 बजे शिरडी के लिए रवाना

इस प्राइवेट ट्रेन के पहले सफर में बीते मंगलवार को 1100 पैसेंजर्स कोयंबटूर से शाम 6 बजे शिरडी के लिए रवाना हुए। ट्रेन गुरुवार को सुबह 7.25 बजे पर शिरडी पहुंची। यहां एक दिन हॉल्ट के बाद ये ट्रेन शनिवार 18 जून को कोयंबटूर नॉर्थ के लिए रवाना हुई। दक्षिण रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक शिरडी पहुंचने से पहले ट्रेन के स्टॉपेज में तिरुपुर, इरोड, सेलम जोलारपेट, बेंगलुरु येलहंका, धर्मावरा, मंत्रालयम रोड और वाडी स्टेशन शामिल हैं. इतना ही नहीं शिरडी साईं बाबा मंदिर में विशेष वीआईपी दर्शन करने की व्यवस्था भी इस सफर में शामिल की गई है।

Bharat Gaurav Scheme

Also Read : Indian Railway : रेलवे ने दी राहत, अब पोस्ट ऑफिस से लोग कर पाएंगे ट्रेन टिकट का आरक्षण

इस सफर के दौरान यह ट्रेन मंत्रालयम रोड स्टेशन पर यात्रियों के मंत्रालय मंदिर के दर्शनों के लिए पांच घंटे तक रुकेगी। इसके साथ ही रेलवे मंत्रालय का कहना है कि इस सफर के दौरान यह ट्रेन कई ऐतिहासिक स्थलों से होकर गुजरेगी, जिससे यात्रियों को भारत की सांस्कृतिक विरासत से रूबरू होने का मौका भी मिलेगा।

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने अपने ट्विटर अकाउंट में इस पहली प्राईवेट ट्रेन का वीडियो भी साझा किया है। रेल मंत्री के मुताबिक भारत गर्व ट्रेन केंद्र सरकार की डोमेस्टिक टूरिज्म के प्रचार के लिए ‘देखो अपना देश’ के तहत की गई पहल है। रेल मंत्रालय के मुताबिक इस प्राइवेट ट्रेन के शुरू होने से दक्षिण रेलवे भारत गौरव योजना के तहत पहली रजिस्टर सर्विस प्रोवाइड करने वाला भारतीय रेलवे का पहला जोन बन गया है।

Bharat Gaurav Scheme : ट्रेन में है शाकाहारी खाने का भी इंतजाम

न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत गौरव योजना (Bharat Gaurav Scheme) के तहत चलाई गई इस ट्रेन को रेलवे ने एक सर्विस प्रोवाइडर को 2 साल के लिए लीज पर दिया है. सर्विस प्रोवाइडर ने कोच सीटों को नए तरीके से बनाया है. इस ट्रेन से हर महीने कम से कम तीन यात्राएं होंगी. इस प्राईवेट ट्रेन में 20 कोच हैं. जिनमें 12 एसी, पांच स्लीपर, एक पैंट्री कार और दो स्लीपर (SLR ) कोच हैं.

इसके संचालन दल में ट्रेन कैप्टन, प्राईवेट सिक्योरिटी पर्सनल, एक डॉक्टर, 24 घंटे सफाई के लिए क्लीनिंग स्टाफ, रेलवे पुलिस फोर्स होगी. ट्रेन में शाकाहारी खाने का इंतजाम भी किया गया है. रेलवे की विज्ञप्ति के अनुसार, इस ट्रेन का किराया भारतीय रेलवे की नियमित ट्रेन टिकटों की कीमतों के बराबर ही है.

Leave a comment

Your email address will not be published.