पटना: लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान को एक बड़ा सियासी झटका लगा है.नीतीश कुमार के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले चिराग पासवान की पार्टी के भीतर ही घमासान शुरू हो गया.चिराग पासवान की पार्टी लोजपा के बागी नेताओं ने उनके खिलाफ मोर्चेबंदी का एलान कर दिया है.
Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

रविवार को पार्टी के बागी नेता एवं पूर्व महासचिव केशव सिंह समेत दो दर्जन नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा देने की घोषणा कर दी है.केशव सिंह ने पत्रकारों को बताया कि अब वे सब एनडीए के घटक दलों से संपर्क करेंगे.पत्रकार सम्मेलन में इस्तीफा देने वाले सभी नेता मौजूद थे.

केशव सिंह के बड़े आरोप 

केशव सिंह ने आरोप लगाया कि उन्होंने बैठक में एनडीए के घटक दल जदयू-भाजपा तथा हम-वीआईपी से सम्पर्क साधने के लिए पांच-पांच नेताओं की दो अलग-अलग टीमें भी बनाई गई है.साथ ही उन्होंने बताया की चिराग ने प्रशांत किशोर के साथ मिलकर नीतीश कुमार को हराने के लिए कांग्रेस और दूसरे दलों से पैसा लेकर राजनीतिक खेल भी किया है.  हालांकि उन्होंने ये भी कहा की पैसों ले कर बड़ा खुलासा वह बाद में करेंगे.

ये प्रमुख नेता दे रहे हैं इस्तीफा

बता दें की पूर्व प्रदेश महासचिव विश्वनाथ कुशवाहा,रामनाथ रमण,दीनानाथ क्रांति,सुभाष पासवान,अशोक पासवान, प्रो.एजाज उस्मानी,पूर्व प्रदेश सचिव इंजीनियर विजय कुमार,श्रमिक प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कौशल किशोर सिंह कुशवाहा, पूर्व महासचिव सुरेंद्र पंजियार, अभिनंदन कुशवाहा,सतीश कुमार,जगन्नाथ सिंह,अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष पारस लाल गुप्ता,पूर्व उपाध्यक्ष डॉ.इंदुभूषण ठाकुर, कैमूर के पूर्व जिलाध्यक्ष रामजस कुशवाहा, रोहतास के पूर्व जिलाध्यक्ष मंजित वर्मा लोक जनशक्ति पार्टी  छोड़ने  वाले प्रमुख नेता हैं.
Get Today’s City News Updates

 

 

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here