Wednesday, May 25

Bihar Cabinet : बिहार सरकार के मंत्रिमंडल के विस्तार को ले चर्चा का बाजार गर्म

Bihar Cabinet : बिहार सरकार के मंत्रिमंडल में बदलाव को ले इन दिनों चर्चा जोरों पर चल रही है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने पटना में राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की है, जिसके बाद से ही मंत्रिमंडल में विस्तार और फेरबदल को ले अटकलों का बाजार गर्म है। वहीं, दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी ने इससे संबंधित सभी जिम्मेदारियां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को सौंप दी है।

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संजय टाइगर ने इस संबंध में कहा कि धर्मेंद्र प्रधान अपने एक निजी कार्यक्रम में पटना आए थे। इस दौरान उन्होंने नीतीश कुमार से शिष्टाचार भेंट की थी। इससे कोई राजनीतिक मामला नहीं जुड़ा हैं

Bihar Cabinet

Bihar Cabinet : नितीश कुमार लेंगे फैसला

संजय टाइगर ने कहा कि बिहार में मंत्रिमंडल में फेरबदल व विस्तार कब होगा यह निर्णय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लेंगे। नीतीश कुमार ही सारे निर्णय लेंगे और अगर मंत्रिमंडल में फेरबदल और विस्तार होना होगा तो औपचारिक घोषणा कर दी जाएगी। उन्होंने आगे कहा कि धर्मेंद्र प्रधान से मैंने मुलाकात कर राज्य की सत्ता और संगठन पर बातचीत की है। वे हमारे पुराने मित्र हैं।

इधर, जेडीयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता माधव आनंद ने कहा कि केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से शिष्टाचार मुलाकात की है। एनडीए के दो बड़े नेता मिले हैं तो निश्चित ही अहम मुद्दों पर बातचीत हुई होगी। बिहार में चल रही विकास योजनाएं, एनडीए के दलों में बेहतर तालमेल बना रहे इत्यादि पर चर्चा हुई होगी। जहां तक मंत्रिमंडल विस्तार की बात है तो हो सकता है उसपर चर्चा हुई हो। मंत्रिमंडल विस्तार कब करना है इस पर निर्णय लेने का अधिकार सिर्फ मुख्यमंत्री का है।

गौरतलब है कि गुरुवार शाम केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने पटना में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की है। मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद बिहार भाजपा के नेताओं को पता लगा कि धर्मेंद्र प्रधान पटना आए हुए हैं। शुक्रवार की सुबह वो दिल्ली चले गए। मीडिया से भी कोई बात नहीं की। सुबह स्टेट गेस्ट हाउस में बिहार बीजेपी के कुछ नेताओं ने उनसे मुलाकात की, जिसमें संजय टाइगर भी थे।

बता दें कि बिहार मंत्रिमंडल में पांच सीटें खाली रखी गई थी। वहीं, मुकेश सहनी को मंत्री पद से हटा दिया गया है। इस प्रकार कुल छह सीटें खाली हैं। ऐसे में बिहार सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चा काफी दिनों से चल रही है।

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने नीतीश कुमार से मुलाकात की थी। बिहार दौरे पर आए अमित शाह ने भी उनसे से मुलाकात की थी। तब भी सियासी गलियारों में यह चर्चा थी कि मंत्रिमंडल विस्तार एवं फेरबदल पर वार्ता हुई है। बिहार के उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद का एक हफ्ता पहले बयान भी आया था कि मंत्रिमंडल में फेरबदल, विस्तार जल्द हो सकता है। शीर्ष नेतृत्व उचित समय पर निर्णय लेगा।

बोचहां विधानसभा उपचुनाव में बीजेपी को यहां से हार मिली है। भूमिहार समेत सवर्ण समाज बीजेपी के वोटर हैं जो आरजेडी की ओर लामबंद होते दिख रहे हैं।एमएलसी चुनाव में आरजेडी के तीन भूमिहार उम्मीदवार जीते। बोचहां भूमिहार बहुल इलाका था जहां आरजेडी की बड़ी जीत हुई। बीजेपी के कुछ मंत्रियों के कामकाज से भी शीर्ष नेतृत्व संतुष्ट नहीं है। बिहार मंत्रिमंडल से बीजेपी कोटे के कुछ मंत्रियों की छुट्टी हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.