0Shares

Bihar-Jharkhand Bus Service : बिहार से झारखंड के बीच यात्रा करने वालों की यात्रा को और सुविधाजनक बनाने के मकसद से आने वाले दिनों में बिहार के विभिन्न शहरों से झारखंड के लिए पांच हजार बसों का परिचालन होगा। इसके लिए बिहार के 200 रूटों को चिन्हित कर लिया गया है। संबंधित विभाग ने बस मालिकों से आवेदन आमंत्रित किया है।

बता दें कि कुछ दिन पहले ही विभाग की समीक्षा बैठक की गई, जिसमें यह जानकारी सामने आई कि बिहार से झारखंड के बीच 6,160 बसें चलाई जा सकती हैं, लेकिन केवल 1,253 बसों का ही परिचालन हो रहा है। इस हिसाब से 4,907 बसें और चलने की उम्मीद है।

Bihar-Jharkhand Bus Service

Also Read : Bihar-UP Bus Service : बिहार व उत्तर प्रदेश के बीच पुनः शुरू होगी अंतर्राज्यीय बस परीसेवा

Bihar-Jharkhand Bus Service : पटना से रांची के बीच 500 बसों को चलाया जा सकता है

विभाग के मुताबिक, पटना जिले में सबसे ज्यादा रिक्तियां है, झारखंड के लिए यहां से 17 रूटों से बसों का परिचालन होना है। जिले में 1535 बसों के जगह 1380 रिक्तियां है। सबसे ज्यादा पटना से रांची के बीच 500 बसों को चलाया जा सकता है। फिलहाल केवल 36 बसें ही चल रही है। इसी प्रकार पटना से टाटा के बीच 200 बसों का परिचालन हो सकता है, लेकिन केवल 44 बसें ही चल रही है। पटना से हजारीबाग के बीच 75 में से 62, पटना से डाल्टनगंज के लिए 50 में से 44 जबकि पटना से गढ़वा बीच 50 में से 46 रिक्तियां हैं। पटना से गिरिडीह के लिए 100 में से केवल 3 बसों का ही परिचालन हो रहा है। पटना से दुमका के बीच 100 में से केवल 9 बसें ही चल रही है। पटना से देवघर के लिए 125 में से केवल तीन बसों का परिचालन हो रहा है।

जहानाबाद से बोकारो तक 25 बसों का परिचालन होना है, लेकिन एक बस भी नहीं चल रही है। नवादा से टाटा और बोकारो के बीच 25-25 बसों का परिचालन हो सकता है, लेकिन आलम यह है कि एक भी बसों का परिचालन नहीं हो रहा है। जमुई से टाटा और देवघर के लिए 25-25 बसें चलाई जानी है, लेकिन एक भी बसें नहीं चल रही है। बेगूसराय से हजारीबाग, टाटा, बोकारो और खगड़िया से दुमका एवं धनबाद के 25-25 बसों का परिचालन हो सकता है, लेकिन एक भी बसें नहीं चल रही है। बांका से टाटा, भागलपुर से रांची तक 25-25 बसें चलनी हैं, दरभंगा से बोकारो तक 50 बसों का परिचालन होना है लेकिन एक भी नहीं चल रही है।

वहीं, आरा से रांची तक 50 में से केवल 12 बसों का परिचालन हो रहा है। आरा से टाटा तक 50 में से केवल 4 बसें चल रही है जबकि 46 रिक्त हैं। आरा से धनबाद तक 50 में से केवल 2 बसें चल रही है। गया से रांची तक 125 बसों का परिचालन किया जाना है लेकिन 55 बसें ही चल रही है। गया से बोकारो तक 50 बसों का परिचालन होना है, लेकिन पूरे के पूरे 50 रिक्त हैं। औरंगाबाद से बोकारो तक 25 में से केवल 5 बसों का परिचालन हो रहा है इस हिसाब से 20 रिक्तियां हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.