पलामू के पूर्व सांसद व एकीकृत बिहार के पूर्व मंत्री जोरावर राम कोरोना संक्रमण की वजह से दा को अलविदा कह गए. सोमवार की रात इलाज के दौरान मौत हो गई. सांस लेने में ज्यादा परेशानी होने के बाद दोपहर करीब चार बजे मेदिनीनगर स्थित मेदिनी राय मेडिकल कालेज अस्पताल के उपरी तल्ले में भर्ती कराया गया था.

कोरोना टेस्ट में वे संक्रमित पाए गए. निचले तल्ले पर कर्मचारी पूर्व सांसद को बिना आक्सीजन के लेकर आ रहे थे, इसी बीच उनकी मौत हो गई. बताया जा रहा है कि उनका आक्सीजन लेबल 74 हो गया था. कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने के बाद चिकित्सकों ने उन्हें कोविड वार्ड में भर्ती करने की सलाह दी तो कर्मचारी अफरा-तफरी में बिना आक्सीजन के ही निचले तल्ले स्थित वार्ड में शिफ्ट कराने लगे. इसी बीच उनकी मौत हो गई.

1977 में बने थे कारा एवं उत्पाद मंत्री

पूर्व सांसद के पुत्र राकेश पासवान ने बताया कि अगर आक्सीजन लगा रहता तो वे बच सकते थे. पूर्व सांसद को रांची लेकर जाना था. बताया जा रहा है कि वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे. बता दें कि एकीकृत बिहार में साल 1977 में वे कारा व उत्पाद मंत्री बनाए गए थे. इसके बाद साल 1989 में वे जनता दल के प्रत्याशी के तौर पर पलामू संसदीय क्षेत्र से जीते थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here