पटनाः बिहार में पांच सितारा होटल के निर्माण का रास्ता अब साफ हो गया है. राजधानी पटना के अलावा नालंदा, बोधगया में इन होटलों का निर्माण का काम अप्रैल महीने में शुरू हो जायेगा. पर्यटन विभाग के मंत्री जिवेश कुमार ने गुरुवार को इसकी समीक्षा के दौरान जानकारी दी.

राजधानी पटना के बांकीपुर डिपो परिसर, होटल पाटलिपुत्र अशोक परिसर के लिए अगले एक सप्ताह में टेंडर की प्रक्रिया शुरू हो जायेगी. राजधानी के सुल्तान पैलेस में फिलहाल काम रोक दिया गया है. जबकि गया, नालंदा और बोधगया में जगह चिन्हित कर ली गयी है. इस माह के अंत में होने वाली विभागीय बैठक में इस पर मुहर लग जायेगी.

सुल्तान पैलेस का रुका काम

पर्यटन विभाग 5 स्टार होटल बनाने की जिम्मेदारी वैसी कंपनी को देने ज रही है जिसका पिछले तीन सालों में कम-से-कम पांच सौ करोड़ का टर्न ओवर होगा. सुल्तान पैलेस का पूरा हिस्सा 4.8 एकड़ में फैला हुआ है. जहां पर्यटन विभाग ने फाइव स्टार होटल बनाने का निर्णय लिया था. यहां 150 से 200 कमरा बनाया जाना था. लेकिन यहां होटल बनाने की बात आने के बाद मामला कोर्ट में चला गया है.

    होटल पाटलिपुत्रा अशोक (फाइल फोटो)

गेस्ट हाउस बन जायेगा होटल

पर्यटन विभाग गेस्ट हाउस को होटल के रूप में बदलने जा रही है. इसकी शुरुआत गया के गेस्ट हाउस से की गयी है. नव निर्मित होटल में 100 बेडों का होगा. बता दें कि पाटलिपुत्रा होटल 1.5 एकड़ जमीन पर बना है इसमें 46 कमरे हैं. लेकिन इसे पांच सितारा होटल के रूप में विकसित किया जायेगा जहां, 80 से 100 कमरे होंगे. होटल में मॉल, जिम सहित अन्य सुविधाएं होंगी. जबकि बांकीपुर बस स्टैंड की साढ़े तीन एकड़ जमीन पर सेवेन स्टार होटल बनाया जायेगा. यहां होटल में 150 से 200 कमरे होंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here