पटनाः बिहार में अब ओला, ऊबेर जैसी कंपनियों का बादशाहत जल्द ही खत्म होने वाला है. बिहार में अब उगना कैब धड़ल्ले से अपनी सर्विस देने जा रही है. एओन रिसर्च कंपनी के डायरेक्टर व उगना कैब के मार्गदर्शक अजीत कुमार झा ने प्रेस कांफ्रेंस कर मीडिया को संबोधित करते हुए इसके बारे में विस्तार से जानकारी साझा किया है.

अनिल कुमार झा ने बताया कि कोरोना से पूरा विश्व अस्त व्यस्त था, जिसके कारण लोगों की रोजगार चली गई. जिस समय में लोगों को यह विचार आया कि हम ऐसा कुछ क्यों ना करें जिससे रोजगार सृजन हो. पीएम मोदी व सीएम ने भी आह्वान किया था कि अपने राज्य में रोजगार सृजन को लेकर काम हो. ऐसे में 8 नवम्बर को दरभंगा एयरपोर्ट की शुरुआत हुई थी, इसी तारीख से हम लोगों ने अपने उगना कैब सर्विस की विधिवत शुरुआत की थी. हमारा मुहिम है कि किस तरह से हम उगना कैब को लोकल से वोकल बनाएं.

झारखंड में भी होगा शुरू

इस दौरान जानकारी दी गई कि आने वाले समय में देवघर, रांची से इसकी शुरुआत होगी. उगना कैब की शुरुआत 8 नवम्बर को हुई थी. उगना कैब के डायरेक्टर अजीत कुमार झा ने कहा कि हम कैब सर्विस से हटकर ग्राहकों व गाड़ी से जुड़ने वालों को किफायती दर में सुविधा दे रहे हैं. उगना कैब का एप्प गूगल प्ले व आईओएस प्लेटफार्म पर उपलब्ध है.

दुलारी देवी को आजीवन मुफ्त सेवा

इसके ब्रांड एम्बेसडर विश्व में कीर्तिमान बनाने वाले योगाचार्य रवि झा हैं. उन्होंने बताया कि हमारी टीम का काम जीरो ग्राउंड पर होता है. उगना कैब की टीम ने आम कैब सर्विस से हटकर कम किराया रखा है. हमारा उद्देश्य व्यवसाय नहीं बल्कि सेवा देना है. आगे उन्होनें बताया कि हाल में ही पदम् श्री से सम्मानित हुई मिथिला पेंटिंग में कीर्तिमान बनाने वाली दुलारी देवी को उगना कैब की तरफ से आजीवन मुफ्त सेवा दी जायेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here