Bihar News : CM नीतीश और बिहार सरकार की सबसे महत्त्वकांक्षी परियोजना गंगा जल आपूर्ति योजना को जुलाई 2022 तक पूरा कर लिया जायेगा। गति की समीक्षा के लिए गुरुवार को मुख्य सचिव आमिर सुबहानी के साथ कई वरीय अधिकारियों ने स्थल निरीक्षण किया और जरूरी निर्देश दिए। इस परियोजना के तहत गंगा नदी के पानी को डेढ़ सौ किलोमीटर दूर पहुंचा कर अलग-अलग शहरों में जलापूर्ति किया जाएगा।

Bihar News

Bihar News : अधिकारियों ने किया निरिक्षण

ऐसे में मिली जानकारी के अनुसार अधिकारियों ने योजना के तहत गया जिले के अवगिल्ला-मानपुर में निर्मित जल शोधन संयंत्र और जल भंडारण टैंक का निरीक्षण किया। इसके बाद तेतर जलाशय में हुए कार्य का जायजा लिया। बाद में अधिकारियों की टीम राजगीर गई, जहां उन्होंने मोतनाजे में निर्मित जल शोधन संयंत्र का जायजा लिया। साथ ही हाथीदह से पाइपलाइन के जरिये आने वाले गंगा जल के स्टोरेज, शुद्धिकरण एवं सप्लाई की विस्तृत समीक्षा की।

निरीक्षण के पश्चातअधिकारियों ने बताया कि गंगा जल आपूर्ति योजना का कार्य पूर्णता के समीप है। इसका 90 प्रतिशत से अधिक कार्य पूरा हो गया है। योजना को जुलाई 2022 में पूर्ण कर लेने का लक्ष्य है। योजना के तहत हाथीदह के निकट मरांची गांव में इंटेक वेल-सह-पंप हाउस का निर्माण कराया गया है, जहां से बरसात के चार महीनों में गंगा जल को लिफ्ट कर कुल 151 किलोमीटर लंबी पाइपलाइन के जरिये गया, बोधगया, राजगीर और नवादा शहरों में पहुंचाया जाना है।

योजना के तहत स्थापित जलाशयों में गंगा जल का संचय किया जाएगा और नवनिर्मित जल शोधन संयंत्रों में इसका शुद्धिकरण कर चारों शहरों में सालोंभर स्वच्छ पेयजल के रूप में घर-घर आपूर्ति की जाएगी। यह योजना वर्ष 2051 तक की आबादी की पेयजल की जरूरतों को ध्यान में रख कर बनाई गई है।

Leave a comment

Your email address will not be published.