Bihar News : बिहार के CM नीतीश कुमार ने 16 तारीख को अपने ड्रीम प्रोजेक्ट का उद्घाटन किया, यानी जू-सफारी’ का उद्घाटन किया। बिहार के राजगीर में बनने जा रहा यह जू-सफारी पर्यटकों के लिए एक बेहतरीन आकर्षण का नया केंद्र बनने जा रहा हैं। नीतीश सरकार बिहार में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए लगातार काम कर रही है। उसकी एक मिसाल राजधानी दिल्ली के मैट्रो ट्रेन में लगातार हो रहा बिहार पर्यटन का प्रचार है।

Bihar News

Bihar News : PM से की प्रोजेक्ट को लेकर चर्चा

ऐस में अपने ड्रीम प्रोजेक्ट जू-सफारी के उद्घाटन के बाद सीएम नीतीश ने कहा कि उन्होंने इस प्रोजेक्ट की चर्चा पीएम मोदी से भी की थी। नीतीश कुमार ने इस जू-सफारी के लिए गुजरात से शेर भेजने के लिए प्रधानमंत्री का धन्यवाद भी किया। राजगीर जू-सफारी को बनाने में करीब 177 करोड़ रुपये का खर्च आया है। इस पूरे सफारी को रिकॉर्ड समय में तैयार किया गया है। इस प्रोजेकट को पूरा होने में केवल तीन साल का समय लगा है।

फिलहाल इसके अंदर मुख्य तौर पर पाँच तरह के जानरों को रखा गया है। इनमें बाघ, शेर, भालू, तेंदुआ और हिरण शामिल हैं। सबसे खास बात यह है कि यहाँ शेरों के लिए 25 हेक्टेयर का इलाका आरक्षित है। इस जू सफारी में अभी शेर का केवल एक जोड़ा है। शेर के इस जोड़े को गुजरात के जूनागढ़ से लाया गया है। जूनागढ़ में मौजूद गिर का जंगल भारत में शेरों के लिए एक मात्र प्राकृतिक ठिकाना है। वहीं इस सफारी में बाघ का भी एक जोड़ा है।

द रॉयल बंगाल टाइगर के इस जोड़े को भी यहां 25 हेक्टेयर का इलाका दिया गया है। भविष्य में यहांँ बाघों की संख्या बढ़ाने की भी योजना है। साथ ही इस सफारी के अंदर एक जोड़ी तेंदुआ और एक जोड़ी भालू भी मौजूद है जिनके रहने के लिए भी 25-25 हेक्टेयर की जगह दी गई है। यहांँ रखे गए जानवरों को कोई परेशानी न हो इस वजह से उनके लिए नाइट हाउस भी बनाया गया है। नाइट हाउस में ही जानवरों के खाने पीने का इंतजाम किया जाता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.