Bihar News : बिहार में अब ऋषिकेश में स्थित लक्ष्मण झूले की तर्ज पर एक ब्रिज का निर्माण किया जाएगा जैन धर्म के 24 वे तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी की जन्मस्थली सिकंदरा में लछुआड़ गांव की दक्षिणी सीमा पर पर्वतीय सीमा पर स्थित कुंडग्राम को क्षेत्रीयकुंड माना जाता है लछुआड़ को केंद्र सरकार ने जैन सर्किट से भी जोड़ने की सलाह दी है अब वहां पर ऋषिकेश के लक्ष्मण झूला की तर्ज पर ब्रिज बनाने की तैयारियां शुरू की गयी है और पर्यटन विभाग की तरफ से इसके लिए मंजूरी मिल गयी है

Bihar News

Bihar News : क्षत्रियकुंड गांव में बनेगा पुल

आपको बता दे, क्षत्रियकुंड गांव में लक्ष्मणझूला की तरह से पल बन जाने से लछुआड़ धर्मशाला और क्षत्रियकुंड के बीच में लगभग 7 किलोमीटर की दुरी कम हो जाएगी अभी ये दूरी लगभग 17 किलोमीटर के करीब है और जैन शास्त्रों के मुताबिक भगवान महावीर ने दिन ढलने के पूर्व कुमार गांव में रात के समय यहाँ विश्राम किया था और कुर्मार गांव में भगवान महावीर को केवल्य ज्ञान की प्राप्ति हुई थी

सरकारी पाठयक्रमो के मुताबिक आज भी वैशाली को ही भगवान महावीर के जन्म स्थान में रूप में बताया गया है लेकिन दुनियाभर में फैले हुए जैन श्वेतांबर समुदाय के लोग जमुई जिले में स्थित क्षत्रियकुंड को भगवान महावीर का जन्म स्थान मानते है और जैन धर्म के अनुयाई भगवान महावीर स्वामी की जन्मस्थली क्षत्रियकुण्ड कई सदियों से आस्था का केंद्र बना हुआ है

Leave a comment

Your email address will not be published.