Bihar News : बिहार के एक सरकारी अधिकारी ने प्यार की चक्कर में सारी हदें पार कर डाली हैं, कहा जाता हैं की प्यार में लोग पूरी तरह अंधे हो जाते हैं। उन्हें अच्छे और बुरे की समझ तक नहीं रहती, ऐसा की कुछ वाकिया बिहार में हुआ हैं। बिहार के गया जिला के पंचायती राज के पदाधिकारी राजीव कुमार के खिलाफ काफी चौकाने वाला यौन उत्पीड़न का मामला सामने आया हैं। जिसे सुन आपके भी होश उड़ सकते हैं। पंचायती राज विभाग में कार्यालय में ही काम करने वाली एक युवती ने काले शीशे वाले चैंबर में लैपटॉप के बहाने बुलाकर गंदी हरकत करने का आरोप लगाया है।

Bihar News

Bihar News : मुख्यमंत्री से माँगा न्याय

ऐसे में इस पीड़िता ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी चिट्ठी लिखकर न्याय की मांग की है। मामला सामने आने पर डीएम डॉ. त्यागराजन ने मामले की जांच के लिए डीडीसी के नेतृत्व में तीन सदस्यीय जांच दल का गठन किया है। डीएम ने जांच दल को 48 घंटे के भीतर रिपोर्ट सौंपने का भी निर्देश दिया है। आपको बता दे की पीड़िता ने CM नीतीश को मेल भेजकर अपने लिए न्याय की गुहार लगाई हैं।

CM नीतीश को भेजे इस ईमेल में पीड़िता ने लिखा की, पंचायती राज का पदाधिकारी कार्यस्थल पर यौन शोषण करता हैं, उन्होंने आगे कहा की राजीव कुमार काले शीशे वाले चैंबर में लैपटॉप के बहाने महिला को अंदर बुलाता और डांटना शुरू कर देता। उन्होंने वह मौजूद ड्राइवर को बाहर भेज गंदी हरकत करने लगा। डांट सुनकर वह रोने लगी तो पदाधिकारी ने उसके पास आकर उसे पकड़ लिया। इसके बाद गंदी हरकतें की। भागने की कोशिश की तो पीछे से पकड़ लिया।

महिला ने कहा कि वह पूरे कपड़े पहनकर कार्यालय जाती हैं तो अफसर कहते हैं कि इस तरह के कपड़े उन्हें पसंद नहीं हैं। टाइट जिंस व टी शर्ट पहना करो। जब मना किया तो कहा कि मेरी खातिर ऐसी ड्रेस पहनकर कार्यालय आ जाए। नहीं मिली पीड़िता| डीएम द्वारा गठित जांच दल को अभी तक महिला नहीं मिली। टीम ने विभाग के सभी महिला कर्मियों की सूची मांगी है। डीएम ने 48 घंटे के भीतर रिपोर्ट मांगी है, परंतु जांच दल ने दो दिन और का वक्त मांगा है।

Leave a comment

Your email address will not be published.