0Shares

Bihar Politics : जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया हैं, जिसके बाद अब यह सवाल उठने लगे हैं कि बिहार की राजनीति में अब उनकी भूमिका क्या होने वाली है? जदयू में मंत्री पद से हटने के बाद उन्हें कौन सा जिम्मा सौंपा जायेगा? इन तमाम सवालों के जवाब देते हुए बिहार सरकार के ऊर्जा मंत्री और जदयू के वरिष्ठ नेता विजेंद्र यादव ने कहा है कि जदयू में आरसीपी सिंह की भूमिका अब राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह तय करेंगे।

आरसीपी सिंह को पार्टी में जिम्मेवारी दिए जाने के सवाल पर ऊर्जा मंत्री विजेंद्र यादव ने कहा कि उनको क्या काम दिया जाएगा यह अलग विषय है, लेकिन आरसीपी सिंह अभी पार्टी में हैं। आरसीपी सिंह पार्टी के मेंबर के रूप में हैं और उन्होंने पार्टी नहीं छोड़ी है। आरसीपी सिंह को क्या जिम्मेदारी दी जाएगी यह राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह तय करेंगे। आरसीपी सिंह को क्या जिम्मेवारी दी जाएगी इस पर मेरा कोई मंतव्य नहीं है। विजेंद्र यादव ने कहा कि अब जो भी निर्णय लेना होगा इस पर पार्टी ही लेगी।

Bihar Politics
`

Also Read : आरसीपी सिंह को राज्यसभा में भेजे जाने या न भेजे जाने पर नीतीश कुमार ही लेंगे फैसला : राष्ट्रीय अध्यक्ष (जदयू)

Bihar Politics : हर सदस्य का महत्वपूर्ण स्थान होता है

वहीं, आरसीपी सिंह के इस बयान पर कि मेरा नाम रामचंद्र है, मैं किसी का हुनमान नही हूं, पर विजेंद्र यादव ने कहा कि आरसीपी सिंह से किसने कह दिया कि उनका नाम रामचंद्र नहीं है। उनका नाम उनके माता-पिता ने रखा है और उसमें बदलाव करने का अधिकार सिर्फ उन्हीं को है। आरसीपी सिंह पर मंत्री मदन सहनी ने कहा कि पार्टी में राष्ट्रीय अध्यक्ष से लेकर हर सदस्य का महत्वपूर्ण स्थान होता है। आरसीपी सिंह को जो जिम्मेवारी दी जाएगी उसे निभाएंगे। उधर, आरसीपी सिंह भी कह चुके हैं हमें पार्टी जो जिम्मेदारी देगी वह करेंगे।

इस संबंध में मंत्री सम्राट चौधरी ने कहा कि बिहार में गठबंधन की सरकार है। इसमें कइयों को काम मिलता है और कइयों को नहीं भी मिलता। पार्टी तय करेगी कि किसे कौन सा काम देना है। जदयू ने जो तय किया है, उसमें भाजपा का कोई हस्तक्षेप नहीं होगा। जदयू के मंत्रिमंडल में शामिल होने पर मंत्री सम्राट चौधरी ने कहा कि सीएम नीतीश और पीएम मोदी को तय करना है। यह विशेषाधिकार उनका है।

Leave a comment

Your email address will not be published.