किसान आंदोलन ने हरियाणा में डूबा दी बीजेपी की नईया, निकाय चुनाव में मिली करारी हार

0
5

पटनाः किसान आंदोलन का असर हरियाणा में हुए निकाय चुनाव परिणाम में देखने को मिल रहा है. बीजेपी को दो नगर निगम और तीन नगरपालिका में करारी हार का सामना करना पड़ा है. अंबाला नगर निगम में हरियाणा जन चेतना पार्टी की शक्ति रानी ने बीजेपी प्रत्याशी डॉ. वंदना शर्मा को हरा दिया है.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

शक्ति रानी को 37 हजार 604 वोट मिले, जबकि बीजेपी की वंदना शर्मा को 29 हजार 520 वोट मिले. कांग्रेस चौथे नंबर पर रही. कांग्रेस प्रत्याशी मीना अग्रवाल को 13 हजार 797 वोट मिले हैं. वहीं, सोनीपत नगर निगम चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार निखिल मदान ने बीजेपी के ललित बत्रा को 13 हजार 818 मतों से हराया.

तीन नगर पालिका में हारी बीजेपी गठबंधन

तीन नगरपालिका चुनावों में बीजेपी-जेजेपी गठबंधन को बड़ा झटका लगा है. तीनों जगहों पर निर्दलीय प्रत्याशियों ने बाजी मार ली है. हिसार के उकलाना, रोहतक के सांपला और रेवाड़ी के धारुहेड़ा में निर्दलीय चेयरमैन प्रत्याशी कंवर सिंह विजेता घोषित किये गए हैं.

सांपला में भी हारी बीजेपी

उकलाना नगरपालिका से निर्दलीय प्रत्याशी सुशील साहू ने भाजपा-जजपा के प्रत्याशी महेंद्र सोनी को हराया है. सांपला नगरपालिका चुनाव में चेयरमैन पद पर बीजेपी प्रत्याशी सोनू को निर्दलीय पूजा ने बड़े अंतर से हराया. पूजा को 6428 वोट, जबकि सोनू वाल्मीकि को महज 2468 वोट मिले. निर्दलीय प्रत्याशी कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ता हैं ,लेकिन कांग्रेस यहां सिंबल पर नहीं लड़ी थी.

ये भी पढ़ेंः जेडीयू की चेतावनी से सहम गई बीजेपी, नीतीश कुमार का मान मनौव्वल हुआ शुरू!

बता दें कि हरियाणा निकाय चुनाव के लिए 27 दिसंबर को वोटिंग हुई थी. अंबाला में 56.3 फीसदी, सोनीपत में 57.7 फीसदी, पंचकूला में 55.4 फीसदी, रेवाड़ी नगर परिषद में 69.2 फीसदी, सांपला नगरपालिका में 81.5 फीसदी, धारुहेड़ा में 73.8 फीसदी और उकलाना में 79.2 प्रतिशत मददान हुआ था.

Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here