Patna News: राजधानी पटना में पुलिस होटलों और ढाबों पर शराब की तलाश में लगी रहती है। लेकिन पुलिस वाले क्या करें जब सरकारी कार्यालय में ही शराब पार्टी चल रही हो। पटना में गुरुवार को एक ऐसा ही वाकया सामने आया है जहां बड़ी भारी संख्या में शराब की खाली और भरी हुई बोतलें जमा की गई हैं।

यह कार्रवाई कोतवाली थाने के बेली रोड स्थित महिला आयोग कार्यालय के नजदीक स्थित भवन निर्माण विभाग केंद्रीय प्रमंडल कार्यालय में की गई है, जहां हर रोज शराब पार्टी चलती थी। यह बात तब सामने आई जब कोतवाली थाने की पुलिस के साथ ही शराब निषेध विभाग व एंटी लिकर टास्क फोर्स ने बुधवार को देर रात छापामारी की।

इस कार्रवाई के दौरान सरकारी ऑफिस में शराब पीकर हंगामा करते हुए बेगूसराय के बछवारा निवासी बबलू महतो को गिरफ्तार किया गया है। इसके साथ ही कार्यालय के अंदर बाहर व पीछे सर्च अभियान चलाया गया तो प्रधान लिपिक के कमरे में रखी अलमारी के पीछे व कार्यालय के पिछले भाग में लगभग 30 से अधिक शराब की खाली भरी बोतलें पाई गई। जिस बबलू महतो को पकड़ा गया वह कार्यालय के चौकीदार जितेंद्र महतो के गांव का बताया जा रहा है।

मिली थी जानकारी :

जब यह सूचना एंटी लिकर टास्क फोर्स को मिली थी कि भवन निर्माण विभाग केंद्रीय प्रमंडल कार्यालय में शराब पार्टी चल रही है। जिसके बाद दोनों विभाग की टीम यहां कार्रवाई करने पहुंची तो वहां चौकीदार रामभरोसे व जितेंद्र महतो मौजूद थे।

कार्रवाई के दौरान बबलू को शराब के नशे में पाया गया। इसके बाद दोनों चौकीदारों के साथ पूरे कार्यालय की जांच पड़ताल शुरू की गई। इस दौरान प्रधान लिपिक के टेबल पर 375 एमएल के मैजिक मोमेंट का वोडका और रॉयल चैलेंज के 750 एम एल की एक-एक खाली बोतल पड़ी हुई थी। वहीं विभाग के पत्राचार विभाग में विभिन्न कंपनियों के 5-5 भरी हुई बोतल शराब की मिली। जब ऑफिस के पीछे के भाग में जांच की गई तो वहां 23 खाली शराब की बोतलें पड़ी मिली।

पुलिस ने जांच शुरू की :

भवन निर्माण के ऑफिस में मिली शराब की बोतलों की कार्रवाई के बाद पुलिस ने अनजान लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। साथ ही विभाग की उपस्थिति रजिस्टर और सीसीटीवी की जांच पड़ताल की जा रही है।

जिससे इस बात का पता चल सके कि बुधवार को कौन-कौन कर्मी आये थे। कार्यालय को सील नहीं किया गया है। एसएसपी मानव जीत सिंह ढिल्लों ने बताया कि सरकार भवन को सील करने का कानून नहीं है।

इस संबंध में कोतवाली थाने में पुलिस पदाधिकारी अजय कुमार पाल के बयान के आधार पर बबलू महतो व भवन निर्माण विभाग केंद्रीय प्रमंडल के अंजान कर्मियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। इधर शराब की जानकारी मिलने के बाद विभाग में हड़कंप मच गया और कई कर्मचारी ड्यूटी पर नहीं पहुंचे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि मामले में विभाग के कई कर्मचारी लपेटे में आ सकते हैं।