पटनाः बिहार के डिप्टी सीएम सह वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने आज राज्य के 2021-22 का बजट पेश किया. एक साल का लेखा जोखा पेश करते हुए कुल 2 लाख 18 हजार 303 करोड़ रू का बजट पेश किया है. बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बजट को झूठ का पुलिंदा बताया है.

तेजस्वी यादव ने पहली प्रतिक्रिया में कहा कि इसमें पढ़ाई, कमाई, सिंचाई और दवाई का कहीं भी जिक्र नहीं है. उन्होंने कहा की बजट में सात निश्चय पार्ट 2 की बात की गई है. लेकिन एक इंडस्ट्री कारखाने की बात नहीं की गई. जूट मिल, चीनी मिल किसी का भी जिक्र नहीं हुआ. फूड प्रोसेसिंग यूनिट, मकई और मखाना इन सब चीजों का कहीं चर्चा नहीं किया गया है. उन्होंने कहा की स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी लाएंगे, वह हमारे संकल्प में था. लेकिन स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी लाने की बात राजगीर में की गई.

बजट में परोसा गया झूठ

स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी पर काम महागठबंधन की सरकार में किया गया. वहीं उन्होंने कहा की बिहार सरकार कोर्ट के आदेश के बाद भी नियुक्ति पत्र नहीं देती है. बजट में पूरे तरीके से बिहार को ठगने और झूठ परोसने का काम किया जा रहा है. उन्होंने कहा की पूरा बजट जुमलेबाजी है.

अज्ञानी हैं नीतीश कुमार!

बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने राज्य के मुख्यमंत्री के ऊपर बड़ा हमला बोला है. बिहार मैट्रिक परीक्षा के दौरान सोशल मीडिया में वायरल हो रहे प्रश्नपत्र को लेकर तेजस्वी ने नीतीश कुमार को अज्ञानी बताया है. विधानसभा के बाहर मीडियाकर्मियों से बातचीत  दौरान तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार को व्हाट्सएप के ABCD के बारे में भी जानकारी नहीं है.

शिक्षा मंत्री को पेपर लीक की जानकारी तक नहीं

तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार में शिक्षा की व्यवस्था है कि शिक्षा मंत्री को ज्ञात ही नहीं हो पाता है कि पेपर लीक हो गया है. सबसे बड़ा सवाल है कि आखिर एग्जामिनेशन से पहले पेपर लीक हो गया जाता है. कभी सरकार यह जानने की कोशिश नहीं करती कि आखिरकार ये कैसे हो रहा है. उन्होंने कहा कि हमने सरकार के लोगों को और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ज्ञात करवाया है कि सारे पेपर का कोड होता है तो इसकी जांच होनी चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here