बिहार विधानसभा चुनाव से पहले एनडीए में जेडीयू और एलजेपी के बीच उपजे विवाद ने बीजेपी की परेशानी बढ़ा दी है. हालांकि, आज बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और सीएम नीतीश कुमार के बीच हुई मुलाकात के बाद एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान के तेवर में नर्मी आई है. चिराग ने एनडीए में रहने के संकेत भी दिए हैं.

एक न्यूज चैनल से बातचीत में चिराग पासवान ने कहा कि मैं किसी को (नीतीश कुमार) टेंशन नहीं दे रहा, लोग क्यों तनाव ले रहे हैं मुझे समझ में नहीं आता, मैं सिर्फ अपनी बात रख रहा हूं. उन्होंने कहा कि एक बिहारी होने के नाते बिहार में उत्पन्न समस्याओं को मुख्यमंत्री के सामने रखा है. उन्होंने इस पर जोर देते हुए कहा कि समस्याओं को मुख्यमंत्री के सामने नहीं रखेंगे तो किसके सामने रखेंगे. चिराग पासवान ने कहा कि अपनी चिंताओं को मुख्यमंत्री के सामने रखना अगर परेशानी कही जाती है तो मैं कुछ नहीं कह सकता.

नीतीश कुमार के साथ मुलाकत करते जेपी नड्डा
नीतीश कुमार के साथ मुलाकत करते जेपी नड्डा

बीजेपी के फैसले के साथ चिराग

एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान का कहनै है कि उनकी मंशा किसी को टेंशन देना नहीं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गठबंधन का नेतृत्व करेंगे और बीजेपी जो भी फैसला करेगी मैं पूरी तरीके से उसके साथ हूं. मेरा अपूर्व विश्वास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में है. पीएम मोदी ही कारण है जो मैं गठबंधन का हिस्सा बना.  मैं जिनकी वजह से गठबंधन में आया हूं मुझे उनसे अपार स्नेह है. चिराग ने कहा कि लोक जनशक्ति पार्टी के किसी भी नेता की भारतीय जनता पार्टी के किसी भी नेता से या जेडीयू के किसी भी नेता से सीट शेयरिंग को लेकर कोई बात नहीं हुई है.

चिराग का प्लान

चिराग पासवान का कहना है कि उनकी लड़ाई सीटों की नहीं बल्कि बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट की है. बिहार के विकास के लिए हमने रोडमैप तैयार किया है. मैं चाहता हूं कॉमन मिनिमम प्रोग्राम जरूर बने जिसमें तीनों दल की मेहनत सामने आएं.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *