पटना: चुनाव से ऐन वक्त पहले महागठबंधन में विखराब होता जा रहा है. पहले हम पार्टी के बाद उपेंद्र कुशवाहा ने तेजस्वी को नीतीश के सामने कहीं भी टिकने लायक फेस नहीं बताते हुए अलग हो गए. वहीं, कांग्रेस ने भी नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की टेंशन बढ़ा दी है. कांग्रेस आरजेडी के बीच सीट शेयरिंग पर अब तक मसला नहीं सुलझ सका है.

नई दिल्ली में जहां एक तरफ बीजेपी जेडीयू के नेता बैठकर सीट शेयरिंग पर चर्चा कर रहे हैं. वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस अपने सहयोगियों के साथ सीट बंटवारे के फार्मूले पर चर्चा करेगी. इसके लिए पार्टी के शीर्ष नेताओं को बिहार से दिल्ली बुलाया गया है. वहीं, सीट शेयरिंग को लेकर कांग्रेस के रुख पर आरजेडी के मुख्य प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के बड़े नेता चाहते हैं कि बिहार में आरजेडी और कांग्रेस साथ रहे. लेकिन बिहार के कांग्रेस के कुछ नेता गलत फीडबैक दे रहे.

कांग्रेस पर आरजेडी आक्रमक

बिहार कांग्रेस के नेताओं के अड़ियल रवैये पर भाई वीरेंद्र ने हमला बोला है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को जमीनी हकीकत देखकर सीट मांगना चाहिए. ज्यादा सीट चाहिए तो कैंडिडेट भी उन्हें बताने होंगे. आरजेडी प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस को केवल गिनती गिनाने के लिए सीट नहीं दिया जा सकता. इस बार आरजेडी जिताऊ उम्मीदवार को टिकट दे रही है. ताकि हमारी सरकार बने. जमीनी हकीकत जिनकी जितनी पकड़ा है, उन्हें उतनी ही सीट मिलेगी. जनता ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को सीएम बनाने का मन बना लिया है.

ये भी पढ़ेंः उपेंद्र कुशवाहा के दाहीने हाथ माधव आनंद ने RLSP से दिया इस्तीफा, लगाया गंभीर आरोप

आलाकमान के फैसले का इंतजार

आरजेडी विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा कि थर्ड फ्रंट और फोर्थ फ्रंट का कोई मतलब नहीं रह गया है. दूसरी तरफ आरजेडी की चेतावनी पर कांग्रेस ने चुप्पी साध ली है. बिहार कांग्रेस के प्रवक्ता हरखू झा ने कहा कि पार्टी के शीर्ष नेता दिल्ली गए हैं. हमें आलाकमान के फैसले का इंतज़ार है. किसी के प्रवचन देने से कुछ नहीं होता है. आलाकमान जो कहेगा, हम वही करेंगे.
Get Daily City News Updates

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *