पटनाः बिहार विधानसभा चुनाव का बिगुल तो बज चुका है लेकिन अब तक की भी गठबंधन ने सीट शेयरिंग का ऐलान नहीं किया है. सीट शेयरिंग का पेच एनडीए  और महागठबंधन दोनों में फंसा हुआ है. महागठबंधन में एक-एक कर दल आरजेडी का साथ छोड़ते जा रहा है. आरजेडी के रवैये पर बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने बड़ा बयान दिया है.

सीट शेयरिंग को लेकर कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने स्पष्ट किया है कि महागठबंधन में अगर कुछ ऊपर-नीचे होता है तो कांग्रेस अन्य दल के साथ चुनाव में उतरने के लिए पूरे दम खम के साथ तैयार है. गोहिल ने कहा कि सीट शेयरिंग को लेकर आरजेडी के कुछ नेताओं के बयान सुनकर वो हैरान हैं. उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि समान विचारधारा वाली पार्टियां साथ आएं. लेकिन अगर कुछ मजबूरी हुई तो वे दूसरा विकल्प चुन सकते हैं.

आरएलएसपी के महागठबंधन छोड़ने से नाराज है कांग्रेस

बताया जा रहा है कि आरएलएसपी के महागठबंधन से अलग होने के बाद कांग्रेस पहले ही आरजेडी से नाराज है. दूसरी तरफ आरजेडी सहयोगी दल सीट देने में आनाकानी कर रही है. आरजेडी कांग्रेस को 70 की बजाए 58 से ज्यादा सीटें से ज्यादा देने पर राजी नहीं है. इससे पहले 2015 के चुनावों में कांग्रेस ने 41 सीटों पर चुनाव लड़ा था और 27 सीटें जीती थी, जबकि आरजेडी ने 101 सीटों पर चुनाव लड़ा और 80 सीटों पर जीत हासिल की थी.

आज सीट शेयरिंग पर हो सकता है फैसला

आज का दिन महागठबंधन के लिए बेहद अहम है. सीट शेयरिंग पर आज साफ हो जाए गा कि कांग्रेस और आरजेडी साथ में चुनाव लड़ेंगे या दोनों की राहें अलग-अलग हो जाएंगी.  बता दें कि सीएम के चेहरे पर बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल से पहले ही कह चुके हैं कि हर पार्टी को अपना नेता, चेहरा देने का अधिकार है उसमें क्या गलत है. अगर आरजेडी अपना चेहरा देती है तो इससे किसी को एतराज नहीं है.
Get Daily City News Updates

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *