बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और विधान पार्षद प्रेमचंद्र मिश्रा ने राज्य के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को कानूनी नोटिस भेजा है. मोदी को यह नोटिस कांग्रेस विधायकों, विधान पार्षदों पर लगाए गए झूठे आरोप के खिलाफ दी गई है. वहीं युवा कांग्रेस के उपाध्यक्ष कुमार रोहित ने पटना के आरक्षी अधीक्षक के समक्ष उप मुख्यमंत्री के खिलाफ एक शिकायत भी दर्ज कराई है. 

Get City News Updates

कांग्रेस विधान पार्षद प्रेमचंद मिश्रा ने बताया कि राज्य के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने झूठा बयान देकर और ट्वीट कर  आरोप लगाए थे कि कांग्रेस के विधायकों, विधान पार्षदों ने मुख्यमंत्री राहत कोष में एक पैसे का अंशदान भी नहीं किया है. मिश्रा ने कहा कि उप मुख्यमंत्री की ऐसी राजनीति उनकी छोटी मानसिकता उजागर करती है.

Immediately Receive Daily CG News Updates

मिश्रा ने कहा कि उन्होंने खुद 30 मार्च को मुख्यमंत्री राहत कोष में अपने एक माह का वेतन अंशदान स्वरूप चेक द्वारा जमा कराया और ऐच्छिक कोष से भी 50 लाख रुपये के अंशदान की अनुशंसा सचिव योजना विभाग को कर दी. ऐसा ही कांग्रेस-राजद के अन्य विधायकों ने भी किया है. बावजूद इसके उप मुख्यमंत्री ने राहत कोष तक पर सफेद झूठ बोला और कोरोना के खिलाफ लड़ाई को कमजोर करने की चेष्टा की. उन्होंने इस संबंध में किया गया अपना ट्वीट तक वापस नहीं लिया ना ही इस संबंध में विधायकों से माफी ही मांगी. जिसके बाद कांग्रेस ने आत्मसम्मान की रक्षा और सच्चाई के लिए कानूनी प्रक्रिया का सहारा लिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here