पटना: महागठबंधन में सीटों को लेकर बिखराव और खींचतान जारी है. उपेन्द्र कुशवाहा और जीतन राम मांझी पहले ही महागठबंधन का साथ छोड़ चुके हैं और अब कांग्रेस भी आरजेडी के 58 सीट के ऑफर पर सहमत होती नहीं दिख रही है. आरजेडी से बात अभी बनी नहीं और इधर, कांग्रेस ने दिल्ली में अपनी स्क्रीनिंग कमिटी की बैठक की है जिसमें प्लान बी के तहत चुनाव में उतरने का प्लान बनाया जा रहा है.

दिल्ली में कांग्रेस का मंथन

दिल्ली में हुई स्क्रीनिंग कमिटी की बैठक में कमिटी के अध्यक्ष अविनाश पांडे, बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल, बिहार अध्यक्ष मदन मोहन झा, विधायक दल के नेता सदानंद सिंह भी शामिल थे. फिलहाल कांग्रेस ने बिहार में अपनी सिटिंग सीटों पर उम्मीदवारों को सिंबल देने का फैसला किया है. 2015 के चुनाव में कांग्रेस 41 में से27 उम्मीदवार विजयी रहे थे.

अकेले चुनाव लड़ सकती है कांग्रेस

बता दें कि आरजेडी ने कांग्रेस को विधानसभा की 58 सीट और उपचुनाव के लिए वाल्मीकिनगर लोकसभा सीट ऑफर किया है. हालांकि, कांग्रेस 70 से कम सीट पर चुनाव लड़ने के लिए तैयार नहीं है. स्क्रीनिंग कमिटी के अध्यक्ष अविनाश पांडे साफ कर चुके हैं कि अगर गठबंधन में सम्मानजनक सीटों पर समझौता नहीं हुआ तो कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी करेगी.

तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)
तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

बन सकता है नया गठबंधन

बताया जा रहा है कि कांग्रेस ने प्लान-बी पर काम करना शुरू कर दिया है. आरजेडी से बात नहीं बनने की स्थिति में कांग्रेस एक नया गठबंधन तैयार कर सकती है. जिसमें रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा, पप्पु यादव से लेकर चिराग पासवान को एक साथ कर नया गठबंधन का निर्माण किया जा सकता है. हालांकि, महागठबंधन में आरजेडी के रुख का कांग्रेस इंतजार कर रही है. इससे पहले बिहार चुनाव प्रभारी गोहिल ने स्पष्ट किया है कि महागठबंधन में अगर कुछ ऊपर-नीचे होता है तो कांग्रेस अन्य दल के साथ चुनाव में उतरने के लिए पूरे दम खम के साथ तैयार है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *