कोरोना पर हाई लेवल मीटिंग में बड़ा फैसला, हर ब्लॉक में बनेगा क्वारंटाइन सेंटर, अलर्ट पर आपदा प्रबंधन विभाग

0
7

पटनाः बिहार में कोरोना से बिगड़ रहे हालात के बीच सीएम नीतीश कुमार ने उच्च स्तरीय बैठक की है. सीएम ने बैठक में अधिकारियों को कई निर्देश दिए. सभी फ्रंटलाइन वर्कर और हेल्थ केयर वर्कर का कोरोना टेस्ट करने का निर्देश दिया है. वहीं, उनके संपर्क में आने वाले परिजनों की भी जांच की बात कही.

मुख्यमंत्री ने कई राज्यों में कोरोना के केस आ रहे हैं. उन राज्यों से बिहार के लोगों के वापस आने की संभावना है. जिसे देखते हुए प्रखंड स्तर पर क्वारंटाइन सेंटर की तैयारी शुरू करने का निर्देश दिया है. साथ ही अधिक से अधिक टेस्टिंग कराने की सलाह दी. सार्वजनिक आयोजनों में सीमित संख्या में लोग शामिल हों. धार्मिक स्थलों, भीड़भाड़ वाले स्थानों पर विशेष सतर्कता बरतें.कोरोना गाईडलाइन का सख्ती से पालन करें.

मंत्री के साथ अधिकारी रहे मौजूद

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चुनौतियों को देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग को अलर्ट किया है. इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग को भी एईएस व जापानी इंसेफेलाइटिस से बचाव को लेकर भी तैयारी शुरू करने का निर्देश दिया है. बैठक में सभी जिलों के डीएम, एसपी और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बातचीत की है. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे सहित कई विभाग के अधिकारी भी मौजूद रहे.

कोरोना से बचाव का बिहार में होगा प्रचार प्रसार

जिलाधिकारियों और सभी जिले के एसपी से बैठक के बाद नीतीश कुमार ने मीडिया से बातचीत की. उन्होंने बताया कि कोरोना को लेकर पूरे राज्य में प्रचार प्रसार करने की बात कही गई है. लोगों को इससे बचाव के लिए हर हाल में मास्क पहनना है. इसके अलावा एक दूसरे से दूरी बनाए रखने के साथ-साथ सार्वजनिक जगहों पर भीड़ इकट्ठा करने से बचना है.

शादी श्राद्ध के लिए गाइडलाइन

इस दौरान सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि बिना मास्क पहने एक दूसरे के अगल-बगल खड़ा होना ठीक बात नहीं है. उन्होंने कहा कि श्राद्ध, शादी जैसे कार्यक्रमों के लिए संख्या निर्धारित की गई  है. उन्होंने जनता से आग्रह किया कि मास्क पहनिए, दूरी बनाए रखिए और हाथ को बार-बार साफ करते रहिए. वहीं, कोरोना का टीकाकरण अवश्य करवाइए और टेस्टिंग भी.

ये भी पढ़ेंः कोरोना पर हाई लेवल की मीटिंग, तो क्या फिर से बिहार में होगा लॉकडाउन? स्वास्थ्य मंत्री का बड़ा बयान

सीएम नीतीश ने कहा कि कोरोना का टीकाकरण जब पूरे बिहार में पूरा हो जाएगा तो लोगों में कोरोना से लड़ने की क्षमता विकसित हो जाएगी. जिससे जो दूसरी बार कोरोना का वेव आया है उससे लड़ने में लोगों को सहायता मिलेगी. हालांकि, बिहार में बढ़ते कोरोना केस के बाद भी लॉकडाउन लगाने की कोई संभाना नहीं है जो लोगों के लिए राहत भरी खबर है.

पटना से विशाल भारद्वाज की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here