पुलिस विभाग में कोरोना का दहशत, अब तक 202 पुलिसकर्मी पॉजिटिव, इतने की हुई है मौत…

0
3

पटनाः बिहार में कोरोना वायरस बेकाबू होता जा रहा है. संक्रमण से लगातार हालत चिंताजतनक है. कोरोना ड्यूटी में लगे पुलिसकर्मी भी तेजी से संक्रमण के शिकार हो रहे हैं. पुलिस मुख्यालय के मुताबिक इस साल 202 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. जबकि, पांच पुलिसकर्मियों की कोरोना से मौत हो गई है.

हालिया दिनों में बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हुए हैं. इसके बाद पुलिस मुख्यालय में डीजीपी की अध्यक्षता में उच्चस्तरीय समीक्षा की गई है. पुलिस मुख्यालय के सभी प्रभाग और सभी क्षेत्रीय कार्यालयों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं. वहीं, सुझाव दिया गया है कि वह कोरोना की रोकथाम के लिए एक नोडल पदाधिकारी तय करें. नोडल पदाधिकारी अपने प्रभाव का औचक निरीक्षण करेंगे और जाने पर और किसी भी कर्मचारी या अधिकारी के संक्रमित पाए जाने पर एसओपी के अनुसार कार्रवाई करेंगे.

आइजी और डीआइजी रेंज के नोड अधिकारी

इसकी सूचना तत्काल डीजीपी कंट्रोल रूम को भी देनी होगी. वहीं, सभी रेंज के आइजी और डीआइजी को भी उनके क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले पुलिसकॢमयों का नोडल पदाधिकारी बनाया गया है. पुलिस मुख्यालय स्तर पर नोडल अधिकारियों के साथ समन्वय के लिए आइजी मुख्यालय को नोडल पदाधिकारी नियुक्त किया गया है.

मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइजेशन जरूरी

पुलिस मुख्यालय की तरफ से निर्देश दिया गया जिसमें सभी पुलिस पदाधिकारी और कर्मी को ड्यूटी पर अनिवार्य रूप से मास्क पहनने, पुलिस प्रतिष्ठान और बैरक में शारीरिक दूरी का अनुपालन करने, पुलिस से जुड़े कार्यालयों में यथासंभव बाहरी लोगों के प्रवेश पर नियंत्रण करने से लेकर आने वाले लोगों की थर्मल स्कैनिंग और सैनिटाइजेशन की जाए.

कोरोना संक्रमित होने पर ये सुविधाएं

इसके अलावे कहा गया है कि डाक की प्राप्ति और प्रेषण कार्यालय की एंट्री प्वाइंट पर ही सुनिश्चित की जाए. पुलिस पदाधिकारी या कर्मचारी में कोरोना के लक्षण मिलते ही जांच रिपोर्ट आने तक होम क्वारंटाइन रखा जाए. पुलिस केंद्र में कोरोना संक्रमित मिलने पर उनके रहने, मेस और शौचालय की अलग व्यवस्था हो. सभी कार्यालय अपने निकटतम अस्पताल और सिविल सर्जन के संपर्क में रहें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here