0Shares

Covid In Bihar : दो साल के लंबे अंतराल के बाद देश मेंम कोरोना महामारी के प्रकोप कुछ राज्यों में कम होता दिखा है, लेकिन कई राज्य ऐसे भी हैं, जहां अब भी हर दिन कोरोना के नये मामले सामने आते हैं। इसी तरह बिहार में भी बीते कुछ दिनों से कोरोना संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी से प्रशासन और आमजन की चिंता बढ़ गई है, लेकिन इस बीच एक राहत की खबर भी मिली है। खबर यह है कि राज्य में कोरोना संक्रमित मरीज तीन से पांच दिनों के भीतर स्वस्थ हो जा रहे हैं। कोरोना की पहली लहर में मरीजों के ठीक होने में औसतन पांच से 8 दिन लग रहे थे। वहीं, दूसरी लहर में स्वस्थ होने की अवधि बढ़कर 6 से 10 दिन हो गई थी।

हालांकि, कोरोना की तीसरी लहर में संक्रमित महज 3 से 6 दिनों में स्वस्थ हो रहे थे। अब यह अवधि 3 से 5 दिन हो गई है। पिछले हफ्ते राज्य में 300 से ज्यादा नए कोरोना संक्रमित मरीजों का पता चला था, जिससे प्रशासन और आम लोग एक बार फिर चिंता में पड़ गये थे। इस दौरान करीब 125 से ज्यादा मरीज स्वस्थ हो गए।

Covid In Bihar

Also Read : Covid Cases In Bihar : बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या में फिर इजाफा, पटना में सबसे अधिक मामले

Covid In Bihar : ओमिक्रोन वैरिएंट भारत में ज्यादा प्रभावी नहीं

पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल के वरीष्ठ चिकित्सक डॉ. सच्चिदानंद कुमार के मुताबिक कोरोना संक्रमितों में आमतौर पर सर्दी, खांसी और बुखार के लक्षण दिख रहे हैं। ओमिक्रोन वैरिएंट भारत में ज्यादा प्रभावी नहीं है। हालांकि, इसके फैलने की क्षमता ज्यादा है।
स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक जून में मिले नए संक्रमितों में से महज दो मरीजों को ही अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत पड़ी। साथ ही बिहार में इस महीने एक भी संक्रमित की मौत नहीं हुई।

बिहार में सोमवार को बीते 24 घंटे के भीतर 35 नए कोरोना संक्रमित मिले। इनमें से 16 मरीज राजधानी पटना से हैं। इनमें नालंदा मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य भी शामिल हैं। कॉलेज में कुल 5 केस पाए गए। इस दौरान एक मरीज की हालात गंभीर होने पर उसे आईजीआईएमएस में भर्ती कराया गया है। पटना के अलावा भागलपुर में 7, गया में 3 अरवल, बेगूसराय, मोतिहारी, खगड़िया, मुंगेर, सारण और सीतामढ़ी में एक-एक नया केस मिला।

Leave a comment

Your email address will not be published.