पटनाः चुनाव से पहले महागठबंधन का कुनबा लगातार घटता जा रहा है. इससे पहले पूर्व सीएम जीतन राम मांझी, उपेंद्र कुशवाहा के बाद एक और दल ने गठबंधन से खुद को किनारा कर लिया है. महागठबंधन का हिस्सा बनने जा रहा वामदलों में बिखराव हो गया है. सीपीआई एमएल ने खुद को अलग करते हुए राज्य के कुल 30 विधानसभा क्षेत्रों के नाम समेत अपने सीटों की पहली सूची जारी कर दी है.

भाकपा-माले राज्य सचिव कुणाल ने कहा कि एनडीए के खिलाफ विपक्ष की कारगर एकता न होने पर वे दुखी हैं. विधानसभा चुनाव में सीटों के तालमेल के लिए भाकपा-माले और आरजेडी के बीच राज्य स्तर पर कई राउंड की बातचीत चली. माले ने अपनी सीटों की संख्या घटाकर 30 कर ली थी. उन्होंने दावा किया कि हमने  20 प्रमुख सीटों पर हमारी दावेदारी स्वीकार कर लेने का प्रस्ताव रखा था, लेकिन आरजेडी की ओर से हमारे लिए जो सीटें प्रस्तावित की गईं हैं.

सरकार के खिलाफ जन आक्रोश

माले सचिव ने कहा कि हमारे सघन कामकाज, आंदोलन व पहचान के पटना, औरंगाबाद, जहानाबाद, गया, बक्सर, नालंदा आदि जिलों की एक भी सीट शामिल नहीं है. उन्होंने कहा कि पहले चरण के नामांकन का दौर शुरू ही होनेवाला है ऐसे में सीटों की पहली सूची जारी कर रहे हैं. माले का कहना है कि लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों की तबाही, सबको शिक्षा व सम्मानजनक रोजगार देने में सरकार की नाकामी और मोदी सरकार के किसान विरोधी कृषि कानूनों आदि से बिहार की जनता में व्यापक विक्षोभ है.

माले की तरफ से जारी सीटों की पहली सूची

1. तरारी 2. अगिआंव 3. जगदीशपुर 4. संदेश 5. आरा 6. दरौली 7. जिरादेई 8. रघुनाथपुर 9. बलरामपुर 10. पालीगंज 11. मसौढ़ी 12. फुलवारीशरीफ 13. काराकाट 14. ओबरा 15. अरवल 16. घोषी 17. सिकटा 18. भोरे 19. कुर्था 20. जहानाबाद 21. हिलसा 22. इसलामुपर 23. हायाघाट 24. वारिसनगर 25. औराई 26. गायघाट 27. बेनीपट्टी 28. शेरघाटी 29. डुमरांव 30. चैनपुर

Get Daily City News Updates

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *