पटनाः शनिवार को दानापुर-टाटा सुपर एक्सप्रेस को लेकर जमकर बवाल हुआ है. दरअसल, ट्रेन को प्लेटफॉर्म पार करने के बाद इमरजेंसी ब्रेक से रोका गया. जिसके कारण यात्रियों के बीच अफरातफरी का माहौल रहा. वहीं, अब इस मामले में चालक, उपचालक के अलावा गार्ड को निलंबित कर दिया गया है.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

जानकारी के मुताबिक ट्रेन मोकामा स्टेशन से तय समय पर खुली, लेकिन हाथीदा में ठहराव के बावजूद ट्रेन अपनी रफ्तार में आगे बढ़ गई. जिसे देख स्टेशन मास्टर ने वॉकी टॉकी से ट्रेन के गार्ड से संपर्क कर  इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन को आगे रुकवाया. तब तक ट्रेन पूर्वी आउटर सिग्नल के पास पहुंच गयी थी.

इमरजेंसी ब्रेक से सहमे यात्री

आनन-फानन में ट्रेन को पीछे करने का निर्णय लिया गया लेकिन ट्रेन का चालक घबराहट में था. किसी तरह ट्रेन की पांच बोगियां ही प्लेटफॉर्म पर वापस आ सकीं. इस घटना से भयभीत लोगों के भीड़ को रेल पुलिस ने किसी तरह नियंत्रित किया. वहीं, क्यूल जंक्शन से दूसरे चालक और गार्ड को बुलाकर ट्रेन को रवाना किया गया. इस बीच ट्रेन तकरीबन डेढ़ घंटे तक डाउन लाइन पर रुकी रही.

रेल पुलिस ने चालक को बचाया

बताया जा रहा है कि अचानक इमरजेंसी ब्रेक लगने से ट्रेन में सवार यात्री सहम गये. जब इस बात की जानकारी सामने आई कि भूल चालक है तो यात्री आक्रोशित हो गये. यात्रियों ने चालक के नशे में होने का आरोप लगाकर उसके साथ मारपीट शुरू कर दी. घटनास्थल पर पहुंची रेल पुलिस ने चालक को हिरासत में लेने की बात कह कर किसी तरह उसे पिटने से बचाया.

आरोपियों का हुआ चेकअप

वहीं, इस मामले में चालक बृज मोहन पासवान, उपचालक राजेश कुमार श्रीवास्तव और गार्ड एमआइ सिद्दीकी को निलंबित कर दिया गया. वहीं नशे में होने के संदेह पर मोकामा से स्वास्थ्य कर्मियों की टीम बुलाकर तीनों का चेकअप कराया गया. हालांकि नशे में होने की बात सामने नहीं आयी. इधर इस घटना को लेकर रेलकर्मियों में हड़कंप मचा है.

Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here