0Shares

Developmental Projects In Patna : बिहार की राजधानी पटना में कई महत्वपूर्ण विकासमूलक परियोजनाओं पर काम जारी है। हाल ही में यहां लोकनायक गंगा पथ (मरीन ड्राइव) बनकर तैयार हुआ है। इसके अलावा अशोक राजपथ पर डबल डेकर फ्लाईओवर का भी काम शुरू हो चुका है। कहीं, मेट्रो का निर्माण हो रहा है, तो कहीं पर अंडरपास का कंस्ट्रक्शन जारी है। मल्टीलेवल पार्किंग सबवे जैसी कई परियोजनाओं ऑन द वे हैं। इन परियोजनाओं के पूर्ण रूप से संपन्न हो जाने के बाद आपको पटना की एक अलग ही सूरत देखने को मिलेगी। इस आर्टिकल में हम आपकों ऐसी ही कई परियोजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी देने वाले हैं।

Developmental Projects In Patna : परियोजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी

1. अशोक राजपथ पर डबल डेकर रोड का निर्माण
गांधी मैदान के पास कारगिल चौक से एनआइटी मोड़ के बीच डबल डेकर रोड का निर्माण दो वर्षों में पूरा हो जायेगा। इस कार्य में 324 करोड़ की लागत आयेगी, जबकि ये रोड 2,070 मीटर लंबी होगी। फिलहाल खजांची रोड मोड़ से पटना कॉलेज के बीच पाइलिंग का काम चल रहा है। कारगिल चौक से जाने के लिए रोड के दूसरे तल्ले और एनआइटी मोड़ से जाने के लिए पहले तल्ले वाले रोड का उपयोग होगा।

2. मीठापुर-महुली एलिवेटेड रोड का चल रहा काम।
मीठापुर से महुली के बीच 8.82 किलोमीटर लंबी फोरलेन एलिवेटेड रोड का निर्माण साल 2024 तक पूरा होगा। इस सड़क के निर्माण कार्य में लगभग 668 करोड़ रुपये खर्च हो रहे हैं। इसका 60 प्रतिशत काम पूरा हो भी गया है। इस सड़क के निर्माण से पटना से गया, गया से बिहार शरीफ, बिहार शरीफ से बख्तियारपुर, बख्तियारपुर से पटना एनएच 83, एनएच 82 और एनएच 31 और एनएच 30 से सीधा संपर्क हो जायेगा।

3. दीदारगंज तक बनेगा मरीन ड्राइव।
बता दें कि दीघा से दीदारगंज तक 20.5 किमी गंगा पथ के पहले फेज में फिलहाल दीघा से पीएमसीएच तक आवागमन शुरू हो चुका है। एलसीटी घाट के पास अशोक राजपथ से कनेक्शन दो माह में तैयार होगा। अगले साल दिसंबर तक दीदारगंज तक एलिवेटेड रोड भी बन कर तैयार हो जायेगी।

Developmental Projects In Patna

Also Read : Marine Drive Of Patna : पटना के मरीन ड्राइव की सुंदरता में लगने वाले हैं चार चांद, जल्द शुरू हो सकता है काम

4. पीएमसीएच के मिलेगा विश्व के दूसरे सबसे बड़े अस्पताल का दर्जा
जल्द ही पटना मेडिकल कॉलेज-अस्पताल को विश्व के दूसरा सबसे बड़ा अस्पताल बनाया जायेगा। इस काम में 5,540 करोड़ रूपये खर्च किये जा रहे हैं। 36 सुपर स्पेशलिटी भवन में 5,462 बेड होंगे। कैदी वार्ड, अधीक्षक आवास, कॉटेज व जीएनएम स्कूल को तोड़ कर वहां बिल्डिंग निर्माण का कार्य शुरू हो गया है। पहले फेज में 2,073 बेड का अस्पताल अगले तीन साल (2025) में तैयार हो जायेगा।

5. बनेगा पटना एयरपोर्ट का नया टर्मिनल भवन
1,216 करोड़ की लागत से पटना एयरपोर्ट पर नये टर्मिनल भवन का निर्माण दिसंबर 2023 तक पूरा हो जायेगा। 57 हजार वर्ग फीट में फैले इस नये टर्मिनल का निर्माण बीते दो वर्षों से चल रहा है। इसकी क्षमता 80 लाख यात्रियों को सालाना ले जाने की होगी। इस नये टर्मिनल में 10 पार्किंग वे, पांच एयरोब्रिज, पांच अत्याधुनिक कन्वियर बेल्ट, एक हजार वाहनों की पार्किंग क्षमता और एक चार मंजिला विशाल मल्टीलेवल पार्किंग होगा।

6. पटना जंक्शन पर सब-वे का निर्माण
मल्टी लेवल पार्किंग से पटना जंक्शन के बीच सब वे का निर्माण हो रहा है। इसमें 330 मीटर अंडरग्राउंड होगा। फिलहाल मल्टीलेवल पार्किंग से बकरी बाजार तक 110 मीटर सतह पर काम चल रहा है। लोग वाहन पार्किंग में लगाकर सब वे से सीधे जंक्शन तक पहुंच जायेंगे।

7. पटना मेट्रो का एलिवेटेड रूट
इस वर्ष के अंत तक मेट्रो के मलाही पकड़ी से लेकर आइएसबीटी तक का एलिवेटेड रूट बन जायेगा। इसकी दूरी 6.6 किमी होगी और पांच स्टेशन होंगे। दानापुर से लेकर बेली रोड, पटना जंक्शन, गांधी मैदान, अशोक राजपथ, बाइपास सहित कई क्षेत्र कवर होंगे।

8. लोहिया पथ चक्र का निर्माण पूरा।
हड़ताली मोड़ के पास जाम से निजात हेतु लोहिया पथ चक्र का निर्माण हो रहा है, जहां एक साथ अंडरपास रोड, फ्लाईओवर भी बनाया गया है। इस वर्ष के अंत तक ये पूरी तरह से बनकर तैयार हो जाएगा, जिससे बेली रोड से बोरिंग रोड, दरोगा राय पथ जाना आसान होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.