दिवाली के अगले दिन गोवर्धन या अन्नकूट पूजा का विधान है. कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि के दिन गोवर्धन पूजा की जाती है. आज देश भर में गोवर्धन पूजा का त्यौहार हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है.इस दिन घर के पालतू पशु गाय, बछड़ा, आदि की पूजा की जाती है।

भगवान गोवर्धन की पूजा का शुभ मुहूर्त सुबह-06: 35 से 08: 47 तक रहेगा, जबकि शाम के वक्त 03:21 से 05:33 तक शुभ मुहूर्त होगा. इस समय पूजा करने से विशेष लाभ मिलता है।

अन्नकूट उत्सव में गोवर्धन रूप में भगवान श्रीकृष्ण को छप्पन भोग लगाया जाता है, इस दिन घर और मंदिरों में विविध प्रकार की खाद्य सामग्रियों से भगवान को भोग लगाया जाता है. इस दिन गोबर से गोवर्धन की आकृति बनाकर उसकी पूजा की जाती है।

धार्मिक कथा के अनुसार, गोवर्धन पूजा के दिन भगवान श्रीकृष्ण ने गोकुलवासियों को इन्द्र के प्रकोप से बचाने के लिए छोटी अंगुली पर गोवर्धन पर्वत उठा लिया था।जिसका उनकी पूजा में बेहद महत्व है।

Leave a comment

Your email address will not be published.