दोस्तों आप सभी मोबाइल का इस्तेमाल तो करते ही होंगे इसीलिए आप आज हमारी न्यूज़ पढ़ रहे हैं। आपने देखा होगा कि आप सभी के मोबाइल नंबर की शुरुआत 6,7,8 या 9 से होती है लेकिन ऐसा क्यों क्या इनके अलावा भी हम कोई नंबर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

हम आपको आज यही बताने वाले हैं। मोबाइल का यूज करके आज पूरे विश्व में क्रांति सी आ गई है लोगों के काम करने की स्पीड काफी बढ़ गई है और कुछ ही सेकंड में बहुत से बड़े बड़े काम हो जाते हैं। फोन को यूज करने के लिए सबसे जरूरी सिम कार्ड होता है जिसके 10 अंक के नंबर होते हैं। भारत में ही 10 अंक के नंबर होते हैं बल्कि कई अन्य देशों में आपको 11 अंकों के नंबर भी मिल जाएंगे।

दोस्तों आपके मोबाइल नंबर की शुरुआत +91 से होती होगी क्योंकि यह भारत का कंट्री कोड है अलग अलग देशों में यह अलग अलग होता है। इसके बाद आपके फोन नंबर की शुरुआत 6,7,8,9 से होती होगी। क्या आपने सोचा है कि इन नंबर की शुरुआत 2, 3, 4, 5, 0, या 1 से क्यों नहीं होती। चलिए आपको इसके कुछ कारण बताते हैं।
1 से शुरुआत नही: दोस्तों एक से शुरू होने वाले नंबर आमतौर पर सरकारी कामों में यूज होते हैं। सरकारी सेवा में यथार्थ एंबुलेंस अग्निशामक या फिर पुलिस के नंबर। जैसे 100, 108, 102 इत्यादि। इसीलिए भारत में व्यक्तिगत मोबाइल नंबरों की शुरुआत 1 से नहीं होती।


0 से क्यों शुरु नही होते: जीरो नंबर का उपयोग लैंडलाइन नंबर ओके एसटीडी कोड के रूप में होता है इसीलिए आप के मोबाइल नंबरों की शुरुआत 0 से नहीं होती।

बाकी के नंबर का इस्तेमाल कहा होता है : दोस्तों बाकी के नंबर अर्थात 2, 3, 4 और 5 का उपयोग लैंडलाइन में होता है आपने देखा होगा कि आप के लैंडलाइन का नंबर की शुरुआत इसे हो नंबर से होती है।
दोस्तों अब आपको पता चल गया होगा कि क्यों हमारे मोबाइल नंबर की शुरुआत है 6, 7, 8 या 9 से क्यों नही होती। दोस्तों हम आशा करते हैं कि हमारी यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। दोस्तों यह जानकारी आधिकारिक नहीं है। लेकिन हमारे अनुसार आपको इसका कारण समझ आ गया होगा।