मध्य प्रदेश का भयावह सीधी सड़क हादसा में कई परिवार बखर कर रह गया है. यह वाक्या किसी से भुलाए से भी नहीं भूला जा रहा है. अब तक 51 लोगों की मौत हो गयी है. वहीं इस हादसे में एक पति-पत्नी की मौत की खबर है. जिनका विवाह 8 जून 2020 को दोनों की शादी हुई थी लेकिन 1 साल के अंदर ही दोनों की दर्दनाक तरीके से मौत हो गई.

सीधी ज‍िले के शमी तहसील के गैवटा पंचायत मेंं देवरी निवासी 25 वर्षीय अजय पनिका, सीधी में रूम लेकर रहा करते थे और अपनी 23 वर्षीय पत्नी तपस्या को एएनएम का पेपर दिलाने सीधी से सतना जा रहे थे. इस दौरान हुए सड़क हादसे में दोनों पति-पत्नी की जान चली गयी.

आखिरी समय में पुत्र-बहु को नहीं पाया पिता

इस घटना की जानकारी मिलते ही परिजन शव की तलाश करने पहुंचे. तपस्या का शव मंगलवार 3 बजे मिला जबकि अजय का शव 5 बजे मिला. पोस्टमॉर्टम के बाद दोनों के शव देर रात 10 बजे देवरी पहुंचाया. पूरा गांव इस अनहोनी से गमगीन था, सबकी आंखों में आंसू भरे हुए थे लेकिन मजबूरी देखिए क‍ि अजय के पिता अपने पुत्र -पुत्रवधू के अंतिम संस्कार में शामिल नही हो सकी.

ये भी पढ़ेंः खेसारी लाल यादव और काजल राघवानी के छिड़े जंग में पवन सिंह इंट्री! अभिनेत्री बोली-मैंने धोखा नहीं दिया

बता दें कि जिस वक्त ये हादसा हुआ अजय के पिता गुजरात में थे, अगर वो वहां से आते भी तो उन्हें आने में 3 दिन लगते और पोस्टमॉर्टम किये शव को इतने लंबे समय रोका नहीं जा सकता था. दोनों की शादी 8 महीने पहले ही हुई थी. अजय, पत्नी तपस्या को पढ़ा-लिखा के कुछ बनाना चाहता था और उसे एग्जाम दिलाने सतना लेकर जा रहा था. इसके बाद अजय और तपस्या दोनों का अंतिम संस्कार एक साथ बुधवार को किया गया और प्रथा के अनुसार मुखाग्नि दी गयी. दोनों को एक ही चिता से दुनिया से अलविदा कर दिया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here