इस गांव में जली 17 लाशें, सरकारी आंकड़ें में केवल कोरोना से रिकॉर्ड दो, डर के साये में जी रहे लोग

0
11

कोरोना वायरस का दूसरा लहर फिलहाल कम होने का नाम नहीं ले रहा है. इस बार गांव में भी वायरस पैर पसार चुका है. यूपी के रायबरेली जिले के सुल्तानपुर खेरा गांव में अब तक यहां 18 लोगों की मौत हो चुकी है. गांव में दहशत का माहौल है और लोग डर के साये में जी रहे हैं. गांव के बाहर एक लकड़ी का बैरियर लगा हुआ है.

इंडियन एक्सप्रेस ने अपने रिपोर्ट में बताया कि अविनाश प्रसाद नाम के एक शख्स ने कहा “गांव में कोविड है. सरकार ने इसे कन्टेनमेंट जोन बना दिया है, यहां एक महीने में 18 लोगों की मौत हो गई है. प्रवेश करने का एक एंट्री पॉइंट है. बैरियर के उस पार प्रसाद का घर है. जहां वह अपने परिवार के सदस्यों के संग आंगन में एक खाट पर बैठे हैं. प्रसाद ने कहा “कोई घर से बाहर नहीं आ रहा है.

गांव में दहशत का माहौल

गांव में दहशत ही दहशत है. पास में बैठे दिनेश सिंह जो की एक बैंक कर्मचारी हैं ने एक सूची पढ़ना शुरू किया. इस सूची में पिछले महीने मरने वालों के नाम लिखे थे. इसमें 18 में से 17 लोग ऐसे थे जिनकी मौत कोरोना के लक्षणा आने के बाद हुई.

परिवारों ने सुनायी आप बीती

इंडियन एक्सप्रेस ने अपनी रिपोर्ट में आगे कहा कि 11 परिवारों से बात करने पर पता चला कि मौत से पहले बुखार, खांसी, सर्दी, सिरदर्द और सांस फूलने जैसे लक्षणों की उपस्थिति की पुष्टि की. दिनेश सिंह ने कहा “कई दिनों तक हमें लगा यह सामान्य सर्दी और खांसी है. जब लोग मरने लगे तो हम घबरा गए.

15 मृतकों का नहीं हुआ था कोविड टेस्ट

स्थानीय निवासियों का कहना है कि 17 मौतों में से 15 का कोविड टेस्ट नहीं किया गया ना ही उन्हें अस्पताल ले जाया गया. यह कारण है कि अप्रैल के महीने के आधिकारिक आंकड़ों में मरने वालों की संख्या सिर्फ दो ही दिखाई जा रही है. दिनेश सिंह ने कहा ” जो अठारहवीं मौत हुई है, वह एक युवती की थी. उसे जन्मजात हृदय की बीमारी थी. उसे कोरोना नहीं हुआ था.”

ये भी पढ़ेः एक्टर राहुल वोहरा की छह महीने पहले ही हुई थी शादी; मौत पर पत्नी ज्योति ने लिखा रूलान देने वाला संदेश

गांव के निवासियों का कहना है कि गांव ने एक महीने पहले तक कभी 18 मौतें नहीं देखीं थी. दिनेश सिंह ने कहा, “हमारे जैसे छोटे गांव में, शायद कभी एक या दो मौत होती थी. कई महीने ऐसे भी होते हैं जब कोई नहीं खत्म होता. गांव में जब कोई मर जाता है, तो सभी को पता लगता हैं.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here