फेमस कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी ने हाल ही में लॉक अप शो में अपने शादीशुदा होने और एक बेटे के पिता होने के राज से पर्दा हटाया था, जिसे सुन कर उनके फैंस हैरान रह गए। अब उन्होंने शो के दौरान एक और खुलासा किया है, जिसमे उन्होंने बताया है कि उनके कॉमेडियन बनने की शुरुआत कैसे हुई थी।

मुनव्वर फारूकी ने बताया कि, “साल 2018 के अगस्त में मैं एक मॉल में था। एक स्टैंड अप कॉमेडियन मुझे दिखा। मैंने सोचा की इसका वीडियो तो मैंने दो-तीन दिनों पहले ही देखा है। मैं उसके पास गया और उससे कहा कि आपका मैंने वो वीडियो देखा, मैं मिला और फिर वो वहां से चला गया। तब मुझे लगा कि मैंने तस्वीर तो उनके साथ ली ही नहीं।”

फारूकी ने आगे बताया, “उस वक्त मैं हर संडे मॉल जाता था। मैंने देखा की तीसरी मंज़िल पर एक कॉमेडी क्लब है। मैंने उसको फौलो किया मगर वो दिखा नहीं कही। मैं बाहर खड़ा था, मैंने देखा की वहां टिकट के रेट 500 रुपये लिखे थे। मैंने सोचा की वो लोग ऐसा क्या करते हैं कि एक डेढ़ घंटे का 500 रुपया। वहां 300 भी लिखा था, जब मैंने पूछा ये क्या है, तो उन्होंने (टिकट वाले ने) बताया कि ये शो कल है आज नहीं। उन्होंने कहा कि वो ओपन माइक है, जिसमें कोई भी परफॉर्म कर सकता है।”

मुनव्वर फारूकी

मुनव्वर फारूकी : वो कॉमेडियन फिर उन्हें दिखाई दिया

मुनव्वर ने बताया कि जब वो ओपन माइक के बारे में जानकारी ले ही रहे थे कि वो कॉमेडियन फिर उन्हें दिखाई दिया। उन्होंने कहा, “उतने में ही वो फिर बाहर आया, तो मैंने सेल्फी वगैरह ली। फिर मैंने उससे कहा कि यार मुझे ये ओपन माइक करना है. तब पहली बार ज़िंदगी में ओपन माइक सुना था।” मुनव्वर के मुताबिक उस कॉमेडियन ने उनसे कहा कि आप कर सकते हैं, लेकिन दूसरी जगहों पर। इस पर मुनव्वर ने उनसे उन जगहों के बारे में पूछा। मुनव्वर ने उनसे कहा कि आप मुझे उन जगहों का नंबर भेज देना। मैं आपको परेशान नहीं करूंगा.

मुनव्वर ने आगे बताया, “रात में उसने (कॉमेडियन) चार-पांच जगहों के नंबर भेजे.” उन्होंने बताया कि उसका नााम अनिर्बान दास गुप्ता है और वो अब मेरे बहुत अच्छे दोस्त है। अपनी जर्नी शेयर करते हुए मुनव्वर ने बताया, “जब नंबर मिल गए तो मैंने सोमवार का 300 रुपये का टिकट खरीदा। पहले हर लाइव स्टैंडअप कॉमेडी देखी और मंगलवार को आधा दिन छुट्टी ली। इसके बाद पहली बार परफॉर्म किया।” उन्होंने बताया कि उन्होंने रविवार और सोमवार को पूरी रात स्क्रिप्ट लिखी और तैयारी की।

मुनव्वर ने बताया कि वहां से मैंने शुरू किया। दो तीन महीने बहुत अच्छा किया। उन्होंने कहा, “मैं थोड़ा अच्छा करने लगा था, लेकिन मुझे लगने लगा कि मैं जो नौकरी कर रहा हूं उस पर इसका असर पड़ रहा है. क्योंकि मुझे मीरा रोड जाना पड़ रहा था।” उन्होंने बताया कि एक साल में ही वो मशहूर हो गए थे और सीनियर उनकी तारीफ करने लगे थे।

Leave a comment

Your email address will not be published.