पूर्णियाः आरजेडी नेता की हत्या मामले ने बिहार की सियासत को गरमा दिया है. आरजेडी नेता शक्ति मलिक की हत्या के बाद सोशल मीडिया पर उनका एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें वो नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पर जातिसूचक गाली देने और जान का खतरा बता रहे हैं.

आरजेडी नेता की हत्या मामले में अब केस दर्ज किया गया है. खास बात यह है कि इसमें नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव सहित कई नेताओं का नाम शामिल है. शक्ति मलिक मर्डर मामले में तेजस्वी यादव पर पूर्णिया में हत्या का केस दर्ज किया गया है. इसके अलावा लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव, आरजेडी के एससी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष अनिल साधु (रामविलास पासवान के दामाद) समेत छह लोगों पर FIR दर्ज किया गया है.

घर में घुस कर मारी गोली

बात दें कि शक्ति मलिक RJD के SC/ST प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश सचिव रह चुके हैं. मलिक ने पार्टी से चुनाव लड़ने के लिए टिकट की मांग की थी. इस मसले पर उन्होंने पार्टी नेतृत्व पर सवाल भी खड़ा किया था. बता दें कि आरजेडी नेता की हत्या उनके आवास पर गोली मारकर कर दी गई. उस वक़्त घर में सिर्फ बच्चे और पत्नी के अलावा ड्राइवर ही था. आनन फानन में शक्ति को सदर अस्पताल लाया गया जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

6 लोगों पर एफआईआर

परिवार की ओर से दर्ज बयान के आधार पर तेजस्वी यादव,  तेज प्रताप यादव, एससीएसटी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार साधु पासवान, अररिया के आरजेडी नेता कालो पासवान समेत छह लोगों पर षड़यंत्र के तहत हत्या कराने का आरोप लगाते हुए केहट थाने में मामला दर्ज कराया गया है. पूर्णिया के पुलिस अधीक्षक विशाल शर्मा ने एफआईआर फाइल करने की पुष्टि की है.

शक्ति मलिक(फाइल फोटो)
शक्ति मलिक(फाइल फोटो)

तेजस्वी पर जातिसूचक टिप्पणी का आरोप

बता दें कि दिनों शक्ति मलिक की ओर से तेजस्वी यादव के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए गए थे. उन्होंने कहा था कि वह रानीगंज विधानसभा से चुनाव लड़ने के लिए जब तेजस्वी से मिले तो उन्होंने उनसे 50 लाख रुपये की मांग की. शक्ति ने यह भी आरोप लगाया कि तेजस्वी से मुलाकात के दौरान उन पर जातिसूचक टिप्पणी की गई.
Get Daily City News Updates

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *