जमुईः बिहार में आपराधिक घटनाओं में कमी आने के बजाए लगातार बढ़ते ही जा रहा है. जमुई में महिला के साथ गैंगरेप की घटना सामने आई है. मामला चकाई थाना क्षेत्र का है. महिला के मुताबिक, उसके पड़ोसियों ने घर में घुसकर उसे बंधक बनाया और नाबालिग बेटे के सामने गैंगरेप किया.

रेप के दौरान मारपीट की वजह से महिला की हालत गंभीर है, उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है. महिला ने आरोप लगाया है कि सोमवार की रात में घर में बेटे के साथ सोई हुई थी. इसी दौरान लक्षिडीह के सुखदेव यादव और महेंद्र यादव घर में घुस गए और उसके साथ गलत व्यवहार करने लगे. साथ ही उसके हाथ से चांदी की चूड़ी भी छीन ली और भाग गए. आरोपियों ने किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी भी दी.

चकाई थाने में मामला दर्ज

मंगलवार को महिला अपने बेटे के साथ चकाई थाने पहुंच कर शिकायत दर्ज कराई. थानाध्यक्ष ने पहले इलाज के लिए  रेफरल अस्पताल चकाई भेज दिया. जहां, प्राथमिक उपचार के बाद सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया. फिलहाल महिला का इलाज चल रहा है.

मामले की जांच कर रही पुलिस

महिला ने महिला थानाध्यक्ष ज्ञान को बयान दिया है कि सुखदेव यादव और महेंद्र यादव पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है. इस मामले में एसपी प्रमोद कुमार मंडल ने बताया कि महिला ने चकाई थाना में आवेदन देकर गलत व्यवहार करने का आरोप लगाया है, वही जमुई पहुंचकर महिला थानाध्यक्ष को दिए बयान में दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है. पुलिस दोनों बयानो के आधार पर मामले की जांच कर रही है. दोषी लोगों पर कार्रवाई की जायेगी.

ये भी पढ़ेंः भाई ने की 8 साल की बहन का रेप, फिर ब्लेड से गला काट निर्मम तरीके से की हत्या

वहीं, चकाई थानाध्यक्ष राजीव तिवारी ने बताया कि मामला जमीनी विवाद से जुड़ा हुआ है, महिला द्वारा गलत व्यवहार करने व मारपीट करने का आवेदन दिया गया है. दुष्कर्म की बात मेरे संज्ञान में नहीं आया, जांच की जा रही है. हालांकि जमुई में पीड़ित महिला के आवेदन पर महिला थानाध्यक्ष ज्ञान भारती ने कहा कि उसका मेडिकल जांच कराया जा रहा है, मेडिकल रिपोर्ट अभी नही आई है, जांच रिपोर्ट आने के बाद ही साफ होगा कि पीड़ित महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म जैसी घटना हुई है या नहीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here