अचानक आधी रात में सदर अस्पताल पहुंचे नये डीएम, व्यवस्था देख भड़क गए और फिर जो हुआ…

0
10

गोपालगंज: नये साल में बिहार सरकार ने एक साथ कई अधिकारियों को तबादला किया है. कई जगहों के एसपी, एसएसपी, डीएम, आईजी, डीआईजी समेत अन्य अधिकारियों का ट्रांसफर किया गया है. इसी क्रम में कैमूर के डीएम नवल किशोर चौधरी को गोपालगंज की जिम्मेदारी सौंपी गई है. जिले में आते ही चौधरी ने कड़े तेवर दिखाएं हैं.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

नए डीएम डॉ. नवल किशोर चौधरी सोमवार रात में अचानक सदर अस्पताल पहुंचे जहां, इमरजेंसी वार्ड का निरीक्षण किया. इस दौरान केवल एक डॉक्टर ड्यूटी पर मौजूद थे. पूछताछ करने के बाद डीएम ने मरीजों से मुलाकात कर उनसे हाल चाल जाना और सदर अस्पताल में मिलने वाली व्यवस्था का जायजा लिया.

ये भी पढ़ेंः भरी सभा में दोनों डिप्टी सीएम के बीच में छोड़ दी नीतीश ने अपनी कुर्सी, चर्चाओं का बाजार गरम

डीपीएम को लगाई फटकार

इमरजेंसी वार्ड के बाद जिलाधिकारी ने महिला वार्ड सहित अन्य वार्डों का जायजा लिया. जहां उन्होंने सदर अस्पताल में मुफ्त में मिलने वाली दवाओं की सूची और डॉक्टरों के ड्यूटी रजिस्टर की मांग की. हालांकि डीपीएम ने सही जवाब नहीं दिया. इस दौरान डीएम ने उन्हें जमकर फटकार लगायी.

डीएम ने डॉक्टरों को चेताया

डीएम ने कहा कि अब वे गोपालगंज में आ गए हैं. वक्त बदल गया है. डॉक्टर भी खुद को वक्त के साथ बदल लें नहीं तो उन्हें बदल दिया जायेगा. जिलाधिकारी ने सप्ष्ट कहा कि वे एक डॉक्टर हैं और उनका सबसे ज्यादा ध्यान जिले की स्वास्थ्य सुविधाओं और वयवस्था पर ही होगा. वहीं, सदर अस्पताल के निरीक्षण के बाद डीएम ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और डॉक्टरो की एक इमरजेंसी बैठक का आयोजन करने का निर्देश दिया है.

Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here