0Shares

GST On Food Items : दिन प्रतिदिन बढ़ रही महंगाई ने आम आदमी की जेब ढीली कर दी है। हर दिन खबरों की सुर्खियों में किसी न किसी दैनिक जरूरत के सामान की कीमत में वृद्धि देखी जा रही है। कभी एलपीजी सिलेंडर तो कभी खाद्य पदार्थ, ऐसी कोई वस्तु नहीं है, जिसके मूल्यों में बढ़ोतरी नहीं की गयी है। अब आम आदमी के जले पर नमक छिड़कने के लिये महंगाई का एक और झटका दिया गया है। अब सभी खाद्य उत्पादों जैसे आटा, गेहूं, दाल, चावल सभी पर गूड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) लगा दी गई है। नॉन ब्रांडेड और ब्रांडेड हर तरीके की वस्तुओं पर अब कोई पक्षपात नहीं होगा। सभी पर अब जीएसटी लगाई जाएगी।

GST On Food Items

Also Read : LPG Cylinder Price : महंगाई की मार झेल रहे आम आदमी को एक और झटका, 50 रूपये महंगा हुआ एलपीजी गैस सिलेंडर

GST On Food Items : लूज सामानों पर भी जीएसटी

यहां तक कि लूज सामानों पर भी जीएसटी लग चुकी है। इस वजह से मंडी में उथल-पुथल हो गई है। लूज आटा ₹2 प्रति किलोग्राम महंगा हो गया है। वहीं, दालों के भाव भी लगातार बढ़ते जा रहे हैं। लोगों का कहना है कि अब लगातार महंगाई में इजाफा हो रहा है। पहले लूज आटा और लूज प्रोडक्ट पर कोई भी जीएसटी नहीं थी, लेकिन अब ब्रांडेड और नॉन ब्रांडेड प्रोडक्ट्स के बीच भेद नहीं रह गया है। इसकी शुरुआत आटे से हो गई है।

आटा ₹2 प्रति किलो महंगा हुआ है, लेकिन आगे यह और ज्यादा महंगा होने की संभावना है। इससे आम लोगों को आगे कई दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। मंडी अधीक्षक तालरेजा का कहना है कि किसी भी प्रोडक्ट के लिए कुछ नहीं कहा जा सकता। सभी खाद्यान्न के वस्तुओं में लगातार 50 पैसे से ₹1 तक की वृद्धि रोजाना हो रही है। ऐसे में लोगों का मानना है कि सभी खाद्यान्नों में 5% तक की वृद्धि होगी। लोगों का कहना है कि हो सके तो उन्हें लूज प्रोडक्ट कोड जीएसटी के दायरे से बाहर रखना चाहिए। ऐसा करने से गरीब और निम्न वर्ग के लोगों के लिये मुश्किलें कम होंगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.