gupteshwar pandey nitish lalu

पटना: विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी बदलने वाले नेताओं की लिस्ट बढ़ती जा रही है. इसके पीछे का सबसे बड़ा वजह है विधानसभा चुनाव लड़ने की चाहत. दो दिन पहले तक बिहार में पुलिस महकमा के मुखिया रहे गुप्तेश्वर पांडे ने क्लीयर कर दिया है कि वो चुनाव लड़ेंगे इसकी पूरी संभावना है. हालांकि, पूर्व डीजीपी ने अब तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं लेकिन जल्द ही सियासत में उनकी इंट्री होगी.

पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा कि किस दल के साथ जाऊंगा, यह अभी तय नहीं हैं. उन्होंने कहा कि मेरे चुनाव लड़ने की संभावना प्रबल है. मैं आज शाम लोगों से बात करके फैसला लूंगा. गुप्तेश्वर पांडेय ने आग कहा कि मैं बिहार के किसी भी विधानसभा सीट से चुनाव लड़कर जीत सकता हूं, वह भी निर्दलीय.

पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे
     पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ( फाइल फोटो ) 

सीएम नीतीश की तारीफ

सीएम नीतीश कुमार की पूर्व डीजीपी ने जमकर तारीफ की है. उन्होंने कहा कि राज्य में काफी काम हुआ है. बाढ़ को लेकर लोगों में पीड़ा है लेकिन 15 साल पहले भी सरकारें थीं, उन्होंने काम नहीं किया. बिहार में हर साल तबाही होती है लेकिन उसके लिए नीतीश कुमार को ही केवल दोष देना ठीक नहीं होगा.

gupteshwar pandey with nitish
          सीएम नीतीश कुमार के साथ गुप्तेश्वर पांडे ( फाइल फोटो )

ये भी पढ़िएः पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडे ने सुशांत केस में शिव सेना को धो डाला, जानिए उनका आगे का प्लान

लालू-राबड़ी शासन काल में क्राइम पर उठाए सवाल

वहीं, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के बारे में गुप्तेश्वर पांडे ने सधी हुई प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि तेजस्वी अभी युवा हैं, उनके पास अभी बहुत मौका है. मैंने तेजस्वी के पिता लालू यादव के साथ 15 साल तक काम किया है, वो मुझे बहुत प्यार करते हैं. हालांकि, इस दौरान पूर्व डीजीपी ने लालू-राबडी के शासनकाल का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि 15 साल पहले बिहार में फिरौती और अपहरण व्यवसाय बन गया था. लेकिन आज जो भी अपराधी हैं वो सजायाफ्ता हैं. आज कोई पुलिस के सामने खड़ा नहीं हो सकता है. आज बिहार में कहीं नरसंहार नहीं हो रहा है.

मीडिया और सोशल मीडिया में रखी बात

इससे पहले वीआरएस लेने के बाद उन्होंने मीडिया को संबोधित किया. वहीं, सोशल मीडिया के जरिए भी लोगों को संबोधित करते हुए अपने दिल की बात कही. उनका कहना है कि विधानसभा चुनाव लड़ने का फैसला करना बाकी है. दूसरी तरफ सफाई देते हुए कहा कि दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत का कोई फायदा नहीं उठाया है.

ये भी पढ़ेंः उपेंद्र कुशवाहा को सीएम कैंडिडेट बनाने की मांग हुई तेज, बैठक में जमकर हुई नारेबाजी

करीबी लोगों से मिल रहे पूर्व डीजीपी

गुप्तेश्वर पांडेय ने बुधवार को कहा, “मैंने व्यक्तिगत क्षमता पर वीआरएस लिया है और मैं अपने गृह जिले बक्सर सहित राज्य भर से आने वाले लोगों से मिल रहा हूं. मैं सालों से कम्युनिटी पुलिसिंग के माध्यम से उनसे जुड़ा हूं. वे मुझसे चुनाव लड़ने के लिए कह रहे हैं, लेकिन मैंने चुनाव लड़ने या किसी भी राजनीतिक दल में शामिल होने का अब तक कोई निर्णय नहीं लिया है.” गौरतलब है कि गुप्तेश्वर पांडेय ने कार्यकाल से पांच महीने पहले ही मंगलवार को सरकारी सेवा से वीआरएस ले लिया था. चर्चा इस बात की है कि वह जेडीयू से विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं.
Get Daily City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here