राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (RLP) के संयोजक और MP हनुमान बेनीवाल ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखा है. उन्होंने मोदी सरकार से तीनों कृषि कानून वापस लेने की मांग की है. वापस न लेने पर एनडीए छोड़ने की धमकी भी दी है. केंद्र में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की घटक राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (RLP) ने केंद्र सरकार से हाल में लागू कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की है. पार्टी ने कहा है कि अगर इस मामले में त्वरित कार्रवाई नहीं की गई तो वह एनडीए का सहयोगी दल बने रहने पर पुनर्विचार करेगी.

आरएलपी के संयोजक व राजस्थान के नागौर लोकसभा क्षेत्र से सांसद हनुमान बेनीवाल ने सोमवार को इस बारे में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को संबोधित कर ट्वीट किया. इसमें उन्होंने लिखा है,‘‘अमित शाह जी, देश में चल रहे किसान आंदोलन की भावना को देखते हुए हाल ही में कृषि से सम्बंधित लाए गए तीन विधेयकों को तत्काल वापस लिया जाए व स्वामीनाथन आयोग की सम्पूर्ण सिफारिशों को लागू करें व किसानों को दिल्ली में त्वरित वार्ता के लिए उनकी मंशा के अनुरूप उचित स्थान दिया जाए.’

अमित शाह से कार्रवाई करने की मांग

बेनीवाल ने आगे लिखा, ‘‘चूंकि आएलपी, राजग का घटक दल है परन्तु आरएलपी की ताकत किसान व जवान है, इसलिए अगर इस मामले में त्वरित कार्रवाई नहीं की गई तो मुझे किसान हित में राजग का सहयोगी दल बने रहने के विषय पर पुनर्विचार करना पड़ेगा.

बीजेपी के सहयोगी हैं बेनीवाल

बता दें कि आएलपी व बीजेपी ने लोकसभा चुनाव 2019 में गठबंधन कर चुनाव लड़ा था. बीजेपी ने  राजस्थान के 25 में से एक सीट आरएलपी को दी थी. वहीं, नागौर सीट से बेनीवाल सांसद चुने गए. जबकि विधानसभा में आरएलपी के तीन विधायक हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here