0Shares

साल 2008 में एक आईपीएल मैच के दौरान अपने साथी खिलाड़ी एस श्रीसंत को थप्पड़ मारने वाली घटना पर अब जाकर पूर्व भारतीय खिलाड़ी हरभजन सिंह को अफसोस हो रहा है। अब उन्हें ऐसा लगता है कि श्रीसंत को तो थप्पड़ मारने की जरूरत ही नहीं थी। इस घटना पर अफ़सोस जाहिर करते हुए हरभजन सिंह ने कहा है कि उन्हें ऐसा करने की कोई जरुरत ही नहीं थी।

अब जा कर हरभजन सिंह जब उस घटना को याद करते हैं तो वह यह कबूल करते हैं कि उन्होंने श्रीसंत के साथ बहुत गलत किया। इस घटना के बाद हरभजन सिंह को उस आईपीएल के सीज़न से बाहर कर दिया गया था। इसके अलावा बीसीसीआई ने उन पर 5 एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैचों का बैन भी लगाया था।

श्रीसंत

श्रीसंत किंग्स 11 पंजाब के लिए खेल रहे थे

हरभजन सिंह इस घटना को याद करते हुए कहते हैं कि अगर उन्हें अपने जीवन की कोई गलती ठीक करनी होगी तो वह इसी गलती को ठीक करेंगे। उन्हें आज भी अपने किये पर बहुत पछतावा होता है। जब यह घटना हुई थी उस वक़्त हरभजन सिंह मुम्बई इंडियन्स का हिस्सा थे और श्रीसंत किंग्स 11 पंजाब के लिए खेल रहे थे। हरभजन सिंह से थप्पड़ खाने के बाद श्रीसंत कैमरा पर रोते हुए भी दिखे थे।

हालांकि, इस घटना के बाद श्रीसंत ने हरभजन सिंह को अपना बड़ा भाई बताते हुए मामले को शांत करने की कोशिश की थी, लेकिन सभी को पता था कि मैदान पर इस तरह का व्यव्यहार बिल्कुल भी जरुरी नहीं था। अब हरभजन सिंह को भी इस घटना पर ग्लानि होती है और उन्होंने यह माना कि ऐसी हरकत की जरुरत उस दिन बिल्कुल भी नहीं थी।

Leave a comment

Your email address will not be published.