देश के कई अन्य राज्यों की तरह बिहार में बेरोजगारी एक बहुत बड़ी समस्या है. ऐसे में बिहार विधान परिषद में फोर्थ ग्रेड  की नौकरी की चाहत में रोजाना करीब एक हजार और उससे अधिक की संख्या में अभ्यर्थी इंटरव्यू देने पटना आ रहे हैं. इन अभ्यर्थियों में न  केवल पटना,बल्कि पड़ोसी राज्यों के उम्मीदवार भी हैं.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

दरअसल, बिहार में विधान परिषद में चतुर्थवर्गीय कर्मचारी की भर्ती चल रही है. जिसमें कुल 96 सीटों के लिए भर्ती की प्रकिया जारी है. बता दें की चतुर्थवर्गीय कर्मचारी की इस नौकरी के लिए डेढ़ लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है. इस आँकड़े  से  बिहार में बेरोजगारी दर का अनुमान लगाया जा सकता है.

सरकरी नौकरी के लिए लंबी कतार

बीटेक पास युवाओं का कहना है कि सरकारी नौकरी के लिए फोर्थग्रेड की लाइन में लगना पड़ रहा है. कुछ युवा एक दिन पहले ही पटना में पहुंच रहे हैं. उच्च शिक्षा पाकर भी उम्मीद लगाए बैठे हैं कि विधान परिषद में जगह मिल जाए. प्राइवेट नौकरी कर रहे युवा कि माने तो प्राइवेट में पैसे कम मिलते हैं, उपर से लॉकडाउन के दौरान 6 महीने तक वेतन नहीं मिला. लेकिन सरकारी नौकरी में ऐसा नहीं हैं. यहीं कारण है कि सरकारी नौकरी के लिए पटना पहुंच रहे हैं.

Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here