Hindustan Unilever In Bihar : बिहार तेजी से विकास की राह में आगे बढ़ते हुए अब मल्टीनेशनल कंपनियों की भी पहली पसंद बनता जा रहा है। पिछले कुछ समय में देश के कई उद्योगपतियों ने बिहार में निवेश की इच्छा जताई है। यह पहल भविष्य में राज्य के लाखों युवाओं के लिये रोजगार के अवसर लेकर आयेगी।

मिली जानकारी के अनुसार हिंदुस्तान यूनिलीवर जैसी बड़ी कंपनी ने बिहार में 500 करोड़ से अधिक के निवेश की इच्छा जताई है। बता दें कि अडानी समूह पहले से ही बिहार में निवेश के लिए जमीन तलाश रही है और अब हिंदुस्तान यूनिलीवर जैसी विदेशी कंपनियां भी बिहार में निवेश के लिए जमीन तलाशने के काम में जुट गयी है।

Hindustan Unilever In Bihar : शाहनवाज हुसैन लगातार प्रयास कर रहे हैं

हाल फिलहाल में बिहार में कई उद्योग-धंधों की शुरुआत हुई है। इसके लिए बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन लगातार प्रयास कर रहे हैं। पिछले दिनों ही कोलकाता में निवेश मीट में केवंटर्स एग्रो ने 600 करोड़ और जेआईएस ग्रुप ने 300 करोड़ का निवेश प्रस्ताव बिहार सरकार को दिया था। वहीं, पेप्सी और आईटीसी जैसी कंपनियों ने पहले ही निवेश कर काम शुरू कर दिया है।

उद्योगपतियों के इच्छा से पता चलता है कि बिहार किस स्तर का उपभोक्ता बाजार बनता जा रहा है। देश के कई उद्योगपति अब बिहार को उत्पादक राज्य बनाने कि दिशा में लगातार निवेश कर रहे हैं। इस बीच हाल ही में बिहार के बेगूसराय में पेप्सी ने अपना प्लांट चालू किया है। इसके साथ ही आईटीसी पहले ही बिहार में काम कर रही है। ब्रिटानिया को राज्य सरकार ने उद्योग की स्थापना हेतु पहले ही जमीन आवंटित कर दी है। इसके अलावा ब्रिटानिया भी बिहार में तकरीबन 700 करोड़ रुपये निवेश करने जा रही है।

Hindustan Unilever In Bihar

Also Read : Bihar Tourism : अगले तीन सालों में पर्यटन केंद्रों को जोड़ने वाली सड़कों पर बनेंगे 160 लग्जरी ढाबे और रेस्टोरेंट्स, बिहार सरकार देगी अनुदान

Hindustan Unilever In Bihar : बिहार में लाखों युवाओं को रोजगार मिलेंगे

पिछले दिनों दिल्ली में हुई निवेशक सम्मेलन में एचयूएल और अडानी समूह ने बिहार उद्योग विभाग के प्रधान सचिव संदीप पैंड्रिक से मिल कर निवेश करने में अपनी दिलचस्पी दिखाई थी। एचयूएल एफएमसीजी यानी साबुन, तेल और इस तरह के अन्य उत्पादों के साथ फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाने पर विचार कर रही है, जिससे बिहार में लाखों युवाओं को रोजगार मिलेंगे।

ज्ञात हो कि मोदी सरकार की नई इथेनॉल नीति बनाने के बाद से बिहार सरकार के पास अब तक लगभग तीन दर्जन निवेश के प्रस्ताव आ चुके हैं। राज्य सरकार ने अब तक तकरीबन 36 हजार करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव को मंजूरी दी है। आपको बता दें कि बिहार के पूर्णियां में तो इथेनॉल प्लांट ने काम करना भी शुरू कर दिया है। ऐसे ही एक और इथेनॉल प्लांट का कार्य आरा में अंतिम चरण में है।

Leave a comment

Your email address will not be published.