पटनाः देश में एक बार फिर कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं. देश के कई हिस्सो में फिर से लॉकडाउन लगाया गया है. ऐसे में बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा है कि बिहार में स्वास्थ्य विभाग शुरू से ही कोरोना को लेकर गंभीर है. पिछले साल से अबतक विभाग की ओर से गंभीरता से काम किया जा रहा है उसी का आज परिणाम है कि बिहार के अंदर 350 से भी कम मरीज राज्य के अंदर है.

मीडिया से बातचीत में मंगल पांडे ने कहा कि आज बिहार के 6 जिलें ऐसे हैं जहाँ शून्य मरीज हैं. कोरोना का रिकवरी रेट 99.29 प्रतिशत है. उन्होंने कहा कि विगत कुछ दिनों में जब कोरोना का प्रभाव बढ़ते हुए दिखा, सभी परिस्थितियों पर नज़र रखे हुए हैं और उसपर काम भी हो रहा है. लगातार हमारे टेस्टिंग चल रहा है. आने वाले दिनों में टेस्टिंग की संख्या बढ़ाई जाएगी साथ ही जो हवाई अड्डा, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड पर रैंडम टेस्ट की व्यवस्था होगी.

हालात पर रहेगी नजर

महाराष्ट्र और केरल जैसे राज्यों से होली के मौका पर आने वाले लोगों के स्वास्थ्य पर विशेष नजर रहेगी. हर जिला में सिविल सर्जन निगरानी करेंगे. होली को देखते हुए होली मिलन समारोह पर भी रोक रहेगी ताकि कही भीड़ भाड़ न रहे. कोरोना के संक्रमण को रोका जा सके. साथ ही लोगों से भी अपील है कि मास्क लगाए, सोशल डिस्टेन्स बना कर रहें.

होली में आने पर टेस्ट रिपोर्ट जरूरी 

मंगल पांडे ने बताया कि जो लोग बाहर से आएंगे वो अगर अपने साथ कोरोना की जांच रिपोर्ट साथ लेकर आएंगे तो ठीक है नहीं तो एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पर ही रैपिड कोरोना टेस्ट किया जाएगा. स्कूलों के बंद करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का सीएमजी समय समय पर इसकी समीक्षा करता है कल भी इसपर बैठक हुई है. आवश्यकता के अनुसार इसपर निर्णय लिया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here