बिहार राज्य ने बिहार सरकार के द्वारा पंचायती राज विभाग ने बिहार के ग्रामीण इलाकों के लोगों के लिए एक नई व्यवस्था की शुरुआत की जा रहे हैं। इसके तहत अब बिहार में पंचायतों के होने वाले कार्यों में तेज़ी के साथ साथ निष्पक्षता भी पायी जाएगी। बिहार के ग्रामीण क्षेत्रों में चलने वाली इस योजनाओं को सुचारू रूप से चालने के लिए एक नई व्यवस्था की शुरुवात करी जा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार आपको बता दू की शुक्रवार को बिहार के पंचायती राज विभाग के द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों की समस्या पर तत्काल सुनवाई की गयी और उसके के पंचायती राज विभाग ने e-NISHCHAY नाम की एक पोर्टल की शुरुआत कर दी गयी है। आप यहाँ पर अपने पंचायत से जुडी हुई योजना के बारे में किसी भी प्रकार की शिकायत को दर्ज करा सकते हैं। इस योजना को पूरी तरह से ऑनलाइन रखा जा रहा है।

e -NISHCHAY नाम से शुरू किया गया एक नया पोर्टल


मिली जानकारी के अनुसार आपको बता दे की इस पोर्टल का आरंभ करते हुए पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने कहा कि हर एक लाभुक सुविधाओं का लाभ उठा सके, और किसी भी स्थानीय समस्या की जानकारी सही से और सही समय पर विभाग को मिल सके, इसी उद्देश्य से e-NISHCHAY पोर्टल की शुरुवात करी गयी है। इस e-NISHCHAY पोर्टल को जल्द से जल्द गुगल के प्ले स्टोर पर एप्प के रूप में भी उपलब्ध कराया जाएगा। फिर इसके बाद से लोग अपने मोबाइल के जरिए ‘हर घर नल का जल’, व ‘नाली गली पक्कीकरण निश्चय योजना’ जैसे अन्य योजनाओं से जुड़ी हुई कोई भी प्रकार की समस्या या गड़बड़ी की शिकायत सीधे अपने मोबाइल के जरिए सरकार तक आसानी से पहुंचा सकते हैं।

Also Read :- Food Park In Bihar : बिहार के इस जिले में बन रहा मेगा फूड पार्क, जाने पूरी खबर

वार्ड के सदस्यो की सोंपी गयी इसकी जिम्मेदारी


मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की इस पंचायतों के वार्ड सदस्यों को भी नई जिम्मेदारी सौंपी जा रही है। मंत्री सम्राट चौधरी के अनुसार बताया गया कि मुख्यमंत्री ग्रामीण पेयजल निश्चय योजना का लंबे समय तक इसका लाभ मिल सके, उसके लिए वार्ड के सदस्यों को अनुरक्षक की जिम्मेदारी सौंपने का फैसला भी लिया गया है। इस अवसर पर पंचायती राज मंत्री ने बताया की हमे उम्मीद हैं की बिहार राज्य में इस नई व्यवस्था से ग्रामीण क्षेत्रों में और भी बेहतर तरीके से काम किया जा सकता है। इस कार्यक्रम में विभाग के निदेशक डा. रणजीत कुमार सिंह सहित अन्य कई अधिकारी भी यहाँ मौजूद थे।

Also Read :- Bihar Land News: बिहार के इन 9 शहरों में एक क्लिक पर जाने ज़मीन की पूरी जानकारी