0Shares

IND vs ENG : भारत और इंग्लैंड के बीच एजबेस्टन में खेले गये पांचवे पुनर्निधारित टेस्ट मैच में टीम इंडिया को सात विकेट से हरा कर इंग्लैंड ने जात हासिल कर ली है। इसी के साथ ये टेस्ट सीरीज 2-2 से बराबरी पर खत्म हुई। ज्ञात हो कि रोहित शर्मा के कोरोना संक्रमित होने के बाद इस सीरीज की कमान जसप्रीत बुमराह को संभालनी पड़ी थी। मैच में बुमराह का प्रदर्शन काफी शानदार रहा। टीम इंडिया मैच के पहले तीन दिन मेजबान टीम पर दबदबा बनाये हुई थी, लेकिन चौथे दिन भारतीय टीम की लय बिगड़ गयी और टीम को जीत नसीब नहीं हुई।

चौथे दिन खेल खत्म होने तक इंग्लैंड ने मैच पर पकड़ बना ली और पांचवे दिन भारतीय टीम को इंग्लैंड के हाथों 7 विकेट से हार का समाना करना पड़ा। जॉनी बेयरस्टो ने दोनों पारियों में शतक लगाया। इस बल्लेबाज की वजह से खिलाड़ियों ने सीरीज गंवाने से अपनी टीम को बचा लिया। पूरे पांच दिन हुए इस मैच में कई सारे रिकॉर्ड बने और टूटे।

IND vs ENG

Also Read : Test Cricket : जानें, कौन हैं टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले पांच बल्लेबाज

IND vs ENG : एक नजर डालते हैं फाइनल टेस्ट मैच के रिकॉर्ड्स पर….

1. इंग्लैंड की तरफ से चौथी पारी में चौथे विकेट के लिये हुई 168 रन की सबसे बड़ी साझेदारी। इसके साथ ही 1939 में डरबन में साउथ अफ्रिका के खिलाफ वैली हैमंड और एडी पेन्टर द्वारा 164 की साझेदारी का रिकॉर्ड टूटा।
2. जो रूट ने टेस्ट क्रिकेट 28वां शतक जड़ा।
3. फैब फोर के बीच टेस्ट शतक लगाने वाले बल्लेबाज
28 जो रूट
27 स्टीवन स्मिथ
27 विराट कोहली
24 केन विलियमसन
4. चौथी पारी में जो रूट का प्रदर्शन :
इस सीज़न से पहले: 37 पारियां,
1024 रन
औसत 32
स्ट्राइक रेट 87
इस सीज़न: 115*, 3, 86* और 108*
5. पहली पारी की सबसे बड़ी बढ़त, जिसके बाद भी टीम हार गई।
192 बनाम एसएल गाले 2015
132 बनाम इंग्लैंड एजबेस्टन 2022
80 बनाम ऑस्ट्रेलिया एडिलेड 1992
69 बनाम ऑस्ट्रेलिया सिडनी 2008
6. भारत के खिलफ सर्वोच्च लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा करने वाली टीम-
378 इंग्लैंड एजबेस्टन 2022
339 ऑस्ट्रेलिया पर्थ 1977
276 डब्ल्यूआई दिल्ली 1987
240 एसए जोहान्सबर्ग 2022
7. इन टीमों के खिलाफ सर्वोच्च लक्ष्य का इंग्लैंड ने सफलतापूर्वक पीछा किया
378 बनाम भारत एजबस्टन 2022
359 बनाम ऑस लीड्स 2019
332 बनाम ऑस्ट्रेलिया मेलबर्न 1928/29
315 बनाम ऑस लीड्स 2000

Leave a comment

Your email address will not be published.