आईपीएस बनने के लिए युवा दिन-रात एक कर देते हैं. कुछ नसीब वाले ही होते हैं जिन्हें ये मुकाम हासिल होता है. मुकाम हासिल करने वाले अक्सर दूसरों को मदद करने के लिए हाथ आगे बढ़ाते हैं. कुछ ऐसा ही कर रही हैं. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में बतौर नगर पुलिस अधीक्षक के पद पर तैनात आईपीएस अंकिता शर्मा भी युवाओं की मददगार बन रही हैं.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

रायपुर में जुटते हैं युवा

अंकिता सप्ताह भर अपनी ड्यूटी में व्यस्त रहती हैं और रविवार के दिन एक शिक्षिका की भूमिका में आ जाती हैं. दरअसल, उनका ऑफिस ही उनकी क्लास रूम बन जाता है. सप्ताह के अंतिम दिन 20- 30 यूपीएससी की तैयारी करने वाले युवाओं की भीड़ जुटती है.

युवाओं को कर रहीं मार्ग दर्शन

दिल्ली या किसी बड़े शहर में महंगे कोचिंग संस्थान की फीस नहीं चुकाने वाले युवाओं को आईपीएस अंकिता शर्मा पुलिस विभाग में अपने कर्तव्यों के निवर्हन करने के साथ इन युवाओं के मार्गदर्शन में लगी हुई हैं.

हाई स्कूल के बाद आईपीएस बनने की चाहत

बता दें कि रायपुर के आजाद चौक इलाके में नगर पुलिस अधीक्षक (सीएसपी) पद पर पदस्थ अंकिता दुर्ग जिले के एक छोटे से गांव से आती हैं. सरकारी स्कूल से शुरूआती शिक्षा हासिल करने के बाद हाई स्कूल में उन्हें आईपीएस बनने की इच्छा हुई. यूपीएससी की तैयारी और इसके बारे में सही मार्ग दर्शन नहीं मिलने से दिक्कतें भी हुई. हालांकि, उन्होंने अपना रास्ता खुद चुना.

बिना मार्ग दर्शन के हासिल की मुकाम

अंकिता शर्मा रायपुर में क्राइम को कंट्रोल करने के लिए लगातार काम कर रही हैं. अंकिता शर्मा कहती हैं कि जिस तरह से वे तमाम कठिनाइयों के बाद आइपीएस की परीक्षा में पास हो कर चयनित हुई हैं, वो परेशानी कोई और न उठाए. उनका कहना है कि जब वह तैयारी कर रहीं थी तो उनका मार्गदर्शन करने वाला कोई नहीं था, वे अपने तजुर्बे से अगर किसी की मदद कर सकती हैं तो वे जरूर करना चाहती हैं. 

रविवार को युवाओ का करती हैं मार्ग दर्शन

अंकिता बताती हैं कि अभी बहुत से युवाओं को इसी तरह के मार्गदर्शन की जरूरत है. इस वजह से इस तरह का ख्याल आया. इससे पहले अपने इंस्टाग्राम अकाउंट में एक पोस्ट में उन्होंने लिखा था कि जो युवा यूपीएससी की तैयारी कर रहे हैं अगर उन्हें किसी सहायता की जरूरत पड़े तो वे रविवार सुबह 11 से दोपहर 1 के बीच आजाद चौक थाना में मिल सकते हैं. इस मैसेज के बाद उन्हें लगातार परीक्षार्थियों के फोन आने लगे और इसके बाद उनकी सप्ताहांत कक्षा की शुरूआत हुई.

Get Daily City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here