पटनाः बिहार में लॉ एंड ऑर्डर के मुद्दे पर सीएम नीतीश कुमार विपक्ष के निशानें पर हैं. रुपेश हत्याकांड के बाद नीतीश कुमार पर आरजेडी लगातार सीएम को टारगेट कर रही है. वहीं, अब जेडीयू ने भी नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

जेडीयू प्रवक्ता संजय सिंह ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को एक पत्र लिखा है जिसमें आईपीएस अधिकारी लिपि सिंह का भी जिक्र किया गया है. संजय सिंह ने अपने पत्र में लिखा है, ‘तेजस्वी यादव जी, आप राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह पर सवाल उठा रहे हैं, तो जान लीजिए आरसीपी सिंह जी वरिष्ठ आईएएस ऑफिसर रहे हैं, राज्यसभा के सांसद हैं. उन्होंने अपने कर्म से अपना ओहदा पाया है. उनके घर मे अभी भी उनकी बेटी लिपि सिंह आईपीएस है. आपकी तरह अनपढ़ गवार नहीं है, अनुकंपा पर वह नेता नहीं बने हैं.’

आईपीएस लिपि सिंह ( फाइल फोटो )

लालू-राबड़ी राज पर साधा निशाना

संजय सिंह ने आगे लिखा है कि तेजस्वी यादव जी, आप लोगों ने छेड़ा है तो छोड़ेंगे नहीं. जाहिर सी बात है जितना अपराध 2005 से पहले हुआ करते थे 1% भी अपराध 2005 के बाद नहीं हुए है. सीएम नीतीश कुमार का गुस्सा अपराधियों पर था, और इस गुस्सा का परिणाम भी निकला है और निकलता रहेगा. यही गुस्सा यदि 2005 से पहले आपके माता-पिता कर लिए होते तो अपराध इतना चरम पर नहीं होता.

ये भी पढ़ेंः जेडीयू विधायक ने खुलेआम कह दिया, 6 महीने ही चलेगी नीतीश सरकार फिर तेजस्वी बनेंगे सीएम

वहीं, जेडीयू नेता ने एलजीटी टैक्स के जरिए तेजस्वी यादव को घेरा-संजय सिंह ने लिखा, ‘जिस तरह से आपके माता-पिता के राज में एलजीटी लगता था. एलजीटी का मतलब समझते हैं ना आप ! ‘लालू गुंडा टैक्स’ इस टैक्स को उस समय के हर शहरी को भरना पड़ता था. कितने व्यवसाई, कितने डॉक्टर, कितने इंजीनियर, बुद्धिजीवियों ने बिहार छोड़ दिया.’ बता दें कि क्राइम के मुद्दे पर तेजस्वी यादव ने आज नीतीश सरकार को घेरा था.

Get Today’s City News Updates

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here