पटनाः आरजेडी ने अपने सभी विधायक और विधान पार्षद से प्रति माह 10 हजार राशि की मांग की है जिस पर बिहार में सियासत तेज हो गई है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एमएलए और एमएलसी को एक निर्देश जारी किया है जिसमें उनसे कहा गया है कि वो हर महीने 10 हजार रूपए पार्टी के फंड में जमा करें.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

इस मामले में आरजेडी और लालू परिवार विरोधियों के निशाने पर आ गई है. वहीं, बिहार के पूर्व सीएम और हम सुप्रीमो जीतन राम मांझी ने सोमवार को ट्वीट कर आरजेडी पर गंभीर आरोप लगाए हैं. मांझी ने अपने ट्वीट में कहा, राजद विधायक से पार्टी चलाने के लिए जो पैसे मांगे जा रहे हैं, वास्तव में वह बिहार के व्यापारियों, डॉक्टरों, उद्योगपतियों, होटल कारोबारियों से मांगे जाने थे, पर बिहार की जनता ने भय और जंगलराज के खिलाफ वोट देकर खुद को इन सब से बचा लिया. अब जो उनके साथ है, वह भुगत रहा है.

आरजेडी शासनकाल में पलायन

वहीं, हम के राष्ट्रीय प्रवक्ता दानिश रिजवान ने निशाना साधते हुए कहा कि जंगलराज की सरकार में बिहार के लोगों से पैसा मांगा जाता था. उस दौर में सूबे के डाक्टर और व्यापारी पलायन को मजबूर हो गए थे. हर तर भय और खौफ का माहौल था. आज भी उसके बारे में सोच कर डर लगता है.

Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here