पटना: सीपीआई नेता और जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार के खिलाफ उन्हीं की पार्टी ने निंदा प्रस्ताव पारित किया है. कन्हैया पर सीपीआई नेता के साथ मारपीट करने का आरोप है. कन्हैया वर्तमान में सीपीआई की नेशनल एग्जीक्यूटिव काउंसिल के सदस्य भी हैं.

कन्हैया कुमार के खिलाफ यह प्रस्ताव हालिया दिनों में हैदराबाद में हुई सीपीआई की तीन दिवसीय बैठक में पारित किया गया. एक समाचार पत्र के अनुसार, इस बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव डी राजा समेत अन्य लोग भी शामिल थे. कन्हैया कुमार पर आरोप है कि उन्होंने बीते वर्ष एक दिसंबर को बिहार के पटना में पार्टी के कार्यालय सचिव इंदुभूषण के साथ बदसलूकी की थी. इस दौरान, कन्हैया के समर्थक भी मौजूद थे.

कन्हैया कुमार ने की मारपीट 

पार्टी नेताओं का कहना था कि कन्हैया कुमार ने यह मारपीट इसलिए की, क्योंकि बेगूसराय जिला काउंसिल की एक बैठक बुलाई गई थी, जिसके बाद उसे रद्द कर दिया गया. कन्हैया कुमार को यह जानकारी नहीं दी गई. इसी विवाद के चलते यह पूरा मामला हुआ था. हालांकि, मारपीट की घटना के बाद उन्होंने सफाई देते हुए कहा था कि वह इसके हिस्सा नहीं थे. उन्होंने अपने समर्थकों के ऐक्शन के लिए माफी भी मांगी थी.

सदस्यों ने किया निंदा प्रस्ताव का समर्थन 

हैदराबाद में हुई बैठक के दौरान कन्हैया कुमार को नसीहत भी दी गई. पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने उनसे सावधानी बरतने के लिए कहा. पहले भी कन्हैया सीपीआई को ‘कंफ्यूजन पार्टी ऑफ इंडिया’ बता चुके हैं. सीपीआई के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि बैठक में 110 सदस्य मौजूद थे. इनमें से सिर्फ तीन को छोड़कर, बाकी अन्य सभी ने कन्हैया के खिलाफ निंदा प्रस्ताव का समर्थन किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here