0Shares

कोईलवर सिक्स लेन पुल : बिहार के भोजपुर के कोईलवर और बिहटा के बीच प्रो.अब्दुल बारी पुल के समानांतर नए सिक्स लेन पुल के निर्माण से अब यहां ट्रैफिक जाम की समस्या खत्म हो जाएगी। साथ ही लोगों को पटना से दिल्ली जाने में भी आसानी होगी। इस पुल की कुल लंबाई डेढ़ किमी और चौड़ाई 30 मीटर है।

गत 10 दिसंबर 2020 को इस पुल के तीन लेन के अप स्ट्रीम हिस्से का उद्घाटन किया गया था, जबकि शेष तीन लेन का उद्घाटन केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी द्वारा आज किया गया।

कोईलवर सिक्स लेन पुल

कोईलवर सिक्स लेन पुल : श्चिमी हिस्से में यह पुल आरा–बक्सर फोरलेन से जुड़ा है

बिहटा की ओर से फोर लेन सड़क बनाकर इस पुल से जोड़ा जाएगा। पश्चिमी हिस्से में यह पुल आरा–बक्सर फोरलेन से जुड़ा है। 266 करोड़ रुपए की लागत से उद्घाटन के लिए शेष बचे हिस्से का निर्माण किया गया था। वहीं, इस पुल के दोनों हिस्से के निर्माण में कुल 825 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं।

उद्घाटन समारोह वाले स्थान कोईलवर तारा मणि भगवान साव प्लस टू विद्यालय के खेल मैदान को काफी भव्यता से सजाया गया है। 27 जुलाई 2017 को केंद्रीय मंत्री और आरा सांसद आर के सिंह द्वारा पुल के निर्माण कार्य का शिलान्यास किया गया था।

वहीं पटना के दानापुर से बिहटा तक एलिवेटेड रोड का भी निर्माण किया जाएगा। इसके अलावा आरा-बक्सर फोरलेन और बक्सर में गंगा नदी पर वीर कुंवर सिंह पुल के समानांतर नए पुल के निर्माण कार्य को इस वर्ष के अंत तक पूर्ण करने का लक्ष्य तय किया गया है। गाजीपुर से पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को कनेक्ट किया जा रहा है।
इसके साथ ही बक्सर से पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के बीच 20 किमी फोरलेन का निर्माण किया जा रहा है।

अब्दुलबारी पुल के समानांतर उत्तर दिशा में इस पुल का निर्माण किया गया है। यह पुल 6 लेन का है जिसमें से इसके लेन की चौड़ाई 16 मीटर है। इस पुल और अप्रोच पथ का निर्माण लगभग 825 करोड़ रुपए की लागत से किया गया है। साल 2020 में कोरोना की वजह से इसके निर्माण कार्य में थोड़ी देरी हुई है। कोईलवर पुल में कुल 38 खंभों लगे हुए हैं। पुराने रेल सह सड़क पुल ने 154 वर्षों तक पटना से भोजपुर का संपर्क बनाए रखा। 1868 में अंग्रेजों ने सोन नद पर स्ट्रील का रेल सह सड़क पुल निर्माण किया गया था।

Leave a comment

Your email address will not be published.